जो भी Beginners Blogging के लिए SEO सीखना चाहते हैं तो यह आर्टिकल Beginners के लिए SEO से सम्बंधित एक सम्पूर्ण और Best Search Engine Optimization Tutorial Hindi Guide 2021 हैं क्योंकि इस SEO Tutorial में मैं SEO को लेकर हर एक उस पहलु को Cover करने वाला हूं जो हर के Beginner के लिए जानना और समझना बहुत ही जरूरी हैं।

अगर आप SEO के मामले में एकदम Beginner हैं और इस पूरी Post को ध्यापूर्वक पढ़ते हैं तो आप SEO की ABC को तो कुछ हद तक समझ ही चुके होंगे। मैं ये नहीं कहता कि Blogging के लिए Search Engine Optimization (SEO) को समझना इतना आसान हैं लेकिन इतना मुश्किल भी नहीं हैं। लेकिन कुछ सीखने के लिए शुरुआत भी तो एक बहुत ही जरूरी चीज हैं ना।

तो क्यों ना इस SEO Tutorial in Hindi को आप अपनी Learning Journey की पहली कड़ी बनाएं? और आज से ही सीखना शुरू करें। यह सिर्फ एक SEO Guide ही नहीं बल्कि इसके कुछ Part को आप Blogging Guide भी कह सकते हो क्योंकि SEO को समझने के साथ-साथ SEO को ब्लॉगिंग मे इस्तेमाल कैस करना चाहिए इस बात को भी Focus किया गया है।

Full SEO Tutorial in Hindi

तो चलिए बातें बहुत हो चुकी अब इस आर्टिकल के मुख्य टॉपिक की तरफ बढ़ते हैं। और सबसे पहले SEO को ही समझते हैं कि एसईओ क्या होता हैं?

View All Post Headings

SEO क्या हैं?

SEO की Full Form होती हैं “SEARCH ENGINE OPTIMIZATION“. इसका मुख्य कार्य Web Pages को Google, Bing, Yahoo और बाकी अन्य Search Engines में Top Rank कराने के लिए होता हैं।

अगर इसे एकदम साधारण शब्दों में समझा जाए तो किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट के Content का गूगल में Top Rank होने का कारण SEO ही होता हैं। आपने देखा होगा एक ही टॉपिक पर Google में हज़ारों-लाखों Results निकालकर आते हैं। लेकिन क्या वो सभी टॉप पर रैंक होते हैं? नहीं ना।

जिन Web Pages का SEO Strong होता हैं वो ही Pages इतने सारे Results में Top Page पर आता हैं। आप भी अपनी Site को थोड़ी-सा एक्स्ट्रा और स्मार्ट वर्क करके Google के पहले Page पर ला सकते हो यह बिल्कुल भी उतना मुश्किल नहीं हैं जितना लगता हैं।

तो घुमा-फिराके अगर SEO का Basic Funda समझे तो Blog पर की गई वो सभी Techniques जो आपके ब्लॉग को Search Results में Top पर Rank करा सकें SEO के अन्तर्गत आती हैं।

तो आगे इस ब्लॉग-पोस्ट को ध्यान से पढ़ते रहें क्योंकि अगर आप इसे पूरा पढ़ने के बाद थोड़ा-बहुत भी SEO सीख गए तो यह आपके ब्लॉग की सफलता के लिए एक बहुत बड़ा कदम हो सकता हैं।

SEO कितने प्रकार के होते हैं?

SEO मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं।

1. On page SEO: जब आप Blog Post की Search Engine में High Ranking के लिए Focus Keyword, SEO Title, Meta Description, Title Tag, Permalink, ALT Tags, Site Loading Speed, Internal Linking, External Linking आदि को ध्यान में रखकर कोई Post लिखते हैं तो यह Technique On Page SEO के अन्तर्गत आती हैं

2. Off Page SEO: अपने Blog या Blog Post की Ranking के लिए Blog के बहार जितनी भी SEO Techniques जैसे कि Link Building, Promotion आदि अपनाई जाती हैं वो Off Page SEO के अंतर्गत आती हैं।

SEO क्यों Important होता हैं?

इस बात से इन्कार तो नहीं किया जा सकता कि अगर किसी ब्लॉग या वेबसाइट पर मेहनत से काम कर रहे हो तो इसके बदले आपको कुछ Returns भी चाहिए। और अच्छे Returns के लिए SEO बहुत ही जरूरी हैं।

SEO आपके ब्लॉग पर Organic Traffic Drive करने में मदद करता हैं। जितना अधिक Organic Traffic आपके ब्लॉग पर आएगा उतनी ही अधिक ब्लॉग से आपकी Earning भी होगी।

हालांकि आप कुछ Traffic Social Media से भी Blog पर Drive कर सकते हो जैसे कि Facebook, WhatsApp, Twitter, LinkedIn, Quora आदि। लेकिन यह बहुत ही limited और Long Term के लिए नहीं होता।

इसके अलावा आप Paid Promotion मतलब कि Paid Advertisement के जरिए भी Traffic ला सकते हो लेकिन इसके लिए काफी पैसे की जरूरत पड़ती हैं।

Blog पर Long Term, Success और लगातार Earning के लिए Search Engine से Organic Traffic बहुत ही जरूरी होता हैं। जोकि एक Strong SEO Technique से ही संभव हैं। अपने Blog या Blog Post को अच्छे से SEO Optimization करके Free में ही काफी Organic Traffic प्राप्त किया जा सकता हैं।

SEO Optimize Post गूगल के लिए समझने और सही तरीके से जल्दी Index होने मे मदद करती हैं। इसलिए High Ranking और Online income के लिए SEO एक बहुत ही important factor हैं।

Black hat SEO vs White hat SEO in Hindi

वैसे तो On Page SEO और Off Page SEO ये ही दो मुख्य Parts होते हैं लेकिन इसके अलावा भी कुछ Factors ऐसे है जो इसे दो और भागों में बांटते हैं जिनके बारें में भी ज्ञान होना अति आवश्यक हैं। ताकि आगे चलकर जाने-अंजाने में आपसे कोई गलती न हो।

Black Hat SEO: इस प्रकार के SEO के अंदर Search Engine की Guidelines को Follow नहीं किया जाता हैं। किसी भी Website को Fast Rank करने के लिए इसमें जो भी SEO Techniques का इस्तेमाल होता हैं वो सभी Search Engines की Policy के खिलाफ होती हैं। Black Hat SEO के लिए केवल Search Engine को Target करना ही Top Priority होता हैं। यह SEO Long Term और Serious Blogging के लिए बिल्कुल भी सही नहीं हैं।

White Hat SEO: यह SEO की एक Natural Technique हैं जिसमे SEO करते समय Search Engine की सभी Valid Guidelines को Follow किया जाता हैं। White Hat SEO Techniques को Search Engine (Google) Love करता हैं। इस प्रकार के SEO में Users को मुख्य रूप से Target किया जाता हैं। यह Short Term हो या Long Term दोनों तरह से ही एक उत्तम और Valid SEO Technique हैं।

Google Search Engine कैसे कार्य करता हैं?

किसी भी Website या Blog के Content को पब्लिश होने के बाद से Search Engine में Rank होने तक Google मुख्य रूप से तीन चरणों में कार्य करता हैं जोकि इस प्रकार हैं:

1. Crawling: यह सबसे पहला Step होता हैं जिसमे Google के Crawlers यह पता करते हैं कि इन्टरनेट पर कौन-कौन से Web Pages उपलब्ध हैं? इसके लिए भी गूगल अलग-अलग तरीके इस्तेमाल करता हैं।

जब Google के Crawlers आपकी साईट को Visit करते हैं तो वो सभी Valid Web Pages का पता कर लेते हैं। अगर कोई Post पहले से ही Google पर मौजूद हैं और उसमे आप किसी भी New Post को interlink कर देते हो तो भी Google के पास उसका Signal चला जाता हैं। इसके अलावा जब आप अपनी साईट का Google Webmaster में Manually Sitemap Submit करते हैं तो भी आप Google को New Pages के बारें में जानकारी देते हैं।

2. Indexing: इन्टरनेट पर उपलब्ध किसी भी Web Page के बारे में पता चलने के बाद अब Google यह समझने की कोशिश करता हैं कि वह Web Page किस बारें में हैं? Google की इस Process को Indexing कहते हैं। उस वेब पेज के अंदर दिया गया Text, image, Video आदि को index करता हैं।

3. Serving (Ranking): तीसरे चरण का जो कार्य होता हैं वह आपके Web Pages को User तक पहुचाना होता हैं। जब कोई google पर कुछ सर्च करता हैं तो अपनी library में index किए गए सभी Web Pages में से जो उस Topic से सम्बंधित सभी उपयुक्त जानकारी होती हैं वो Search Results में Show होती हैं। इस प्रकार आपकी साईट पर Google के द्वारा Organic Traffic Transfer किया जाता हैं।

क्या मेरी Website Google में index हुई हैं या नहीं? ऐसे पता करें?

आपकी वेबसाइट Google के Search Engine में index हुई हैं या नहीं यह पता करना बहुत ही आसान हैं। इसके लिए गूगल में site: yourdomain.com टाइप कर Search कीजिए।

How to Check Site indexing in Google in Hindi?

यह Search करने पर आपकी Website का URL अगर index हैं तो वह आपको दिखाई दे जाएगा। इसके अलावा आपकी Site के जितने भी Web Pages Google के द्वारा index कर लिए गए हैं आप वह भी यहां देख सकते हो।

How to Check Site indexing in Google Search Console in Hindi

आप चाहें तो Google Search Console के द्वारा भी अपनी Website की Google में indexing Check कर सकते हो। इसके लिए Search Console में Login करने के बाद Coverage >> Valid पर क्लिक कीजिए।

यहां आप Green Color में ऐसे Total Pages को देख सकते हो जो Google के द्वारा index कर लिए गए हैं।

अपनी Website को Google Search Console में Submit करें

अगर Google Search Engine की बात करते हैं तो Website Owners के लिए Google Search Console भी SEO का एक अहम Factor हैं। आपको इसमें Account बनाकर अपनी Site जरुर Submit करनी चाहिए।

अगर आपने पहली बार Google Search Console का नाम सुना है तो इसके लिए यह एक Detailed Hindi Guide हैं। इसे जरुर पढें:

Add New Property in Google Search Console

और अगर आपने पहले से ही एकाउंट बनाया हुआ हैं तो लेफ्ट साइड में Add Property पर क्लिक कीजिए।

इसके बाद आपके सामने अपनी वेबसाइट Add करने के लिए दो प्रकार के Options आ जाते हैं। Domain और URL Prefix.

Add New Site in Google Search Console

URL Prefix वाले Option में अपनी Site का Domain URL Type कर Continue पर क्लिक करें।

Continue पर क्लिक करने के बाद Verify Ownership के लिए आपको 5 अलग-अलग Options मिलते हैं जिनमें से किसी भी एक तरीके द्वारा आपको अपनी साइट की Ownership Verify करनी होगी।

इनमें से जो दो सबसे Easy तरीके हैं वह HTML File और HTML Tag.

Verify Site Ownership in Google Search Console

HTML File के द्वारा Verify करने के लिए इस पर क्लिक करें और फिर उस HTML File को अपने Computer में डाउनलोड कर लीजिए। HTML File Download करने के बाद अब अपनी Web Hosting के cPanel में जाए और जिस भी Root Folder में आपकी इस साइट की सभी Files Store हैं उस Root Folder में ही Download की गई HTML File को Upload कर दे।

Upload करने के बाद फिर से Search Console की Tab पर वापस जाएं और Verify पर क्लिक करें।

और अगर आप HTML Tag के द्वारा Verify करना चाहते हैं तो उस पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक HTML Tag आ जाता हैं जिसे Copy करने के बाद आपको अपनी साइट के Header Section में Paste करना होगा।

Verify Site Ownership in Google Search Console

इसका सबसे Easy तरीका यह हैं कि अगर आप Rank Math SEO का इस्तेमाल करते हैं तो (Rank Math>>General Settings>>Webmaster Tools) पर क्लिक कीजिए।

Verify Website in Rank Math SEO Plugin

अब Google Verification Code के आगे उस Copy किए गए Code को Paste कर दीजिए। और फिर GSC की Tab में वापस जाने के बाद Verify पर क्लिक कीजिए। यदि आपने एकदम सही HTML Tag Paste किया है तो Verify पर क्लिक करते ही आपको एक Ownership verified का Pop up दिखाई देता हैं जिसका मतलब है कि आपकी Site Google Search Console के द्वारा सफतापूर्वक Verify कर ली गई हैं।

Blog Sitemap Ko Google Search Console Me Submit Kaise Kare?

Google Search Console में अपनी वेबसाइट का Sitemap Submit करें।

Sitemap आपकी पूरी वेबसाइट के URLs का एक Total संग्रह होता हैं जिसमें आपकी साइट के सभी Web Pages के URL होते हैं। Sitemap Google के Crawlers को आपकी साइट को अच्छे से समझने में मदद करते हैं।

हालांकि यह भी सच है कि Sitemap के द्वारा आपकी Website की Ranking में कोइ फायदा नहीं होता। यह केवल आपकी साइट को Search Engine में Fast index करने और बेहतर Crawling में हेल्प करता हैं

अगर आप WordPress के Yoast SEO या फिर Rank Math SEO किसी भी एक Plugin का इस्तेमाल करते हैं तो आप बहुत ही आसानी से अपनी Site का XML Sitemap Generate कर सकते हो।

Yoast SEO से Sitemap कैसे बनाए?

Yoast SEO में XML Sitemap Generate करने के लिए Yoast SEO >> General >> Features पर जाएं और यहां से “XML Sitemaps” वाले Option को ON कर दीजिए।

Sitemap in Yoast SEO WordPress Plugin

ON करने के बाद अपनी वेबसाइट का Sitemap देखने के लिए Blue Color से लिखें हुए “See the XML Sitemap” पर क्लिक करें।

Sitemap Url Ko Google Search Console Me Submit Kaise Kare?
Sitemap Generated by Yoast SEO WordPress Plugin

यह आपको Yoast SEO से Generate हुए XML Sitemap वाले Page पर ले जाएगा। जैसा कि आप ऊपर image में देख सकते हो।

Rank Math SEO से Sitemap कैसे बनाएं?

Rank Math SEO से Sitemap Generate करने के लिए Rank Math >> General >> Features पर Click करें। और फिर Post और Pages दोनों के लिए Sitemap Option को On कर दे।

Sitemap Setting in Rank Math SEO Plugin

अब यहां ऊपर दिए गए Sitemap URL वाले Link पर क्लिक करें, यह आपको आपकी Website के XML Sitemap वाले Page पर ले जाएगा।

Website ka Sitemap Kaise Check Kare in Hindi?

Address Bar में दिए गए .com या .in जो भी हो उसके बाद के पूरे URL को Copy करें जोकि कुछ इस प्रकार होता हैं:

https://mydomain.com/sitemap_index.xml

यह ही आपकी साइट का Sitemap हैं। अब आपको XML Sitemap मिल चुका है जिसे आपको Google Search Console में Submit करना है। चलिए आपको बताते हैं कैसे?

How to Submit Sitemap in Google Search COnsole in Hindi?

सबसे पहले अपने Google Search Console account में लॉगिन करें? और फिर Left Side में Sitemaps पर क्लिक करें।

इसके बाद अपनी वेबसाइट के XML Sitemap page से Domain Name के बाद के Last का एड्रेस Copy कर यहां Paste करें जैसा कि आप ऊपर image में देख सकते हो। और फिर Submit पर क्लिक कीजिए।

Keyword Research क्या हैं?

Keyword Research भी SEO का एक बहुत ही महत्वपूर्ण पार्ट हैं। यह एक तरीके से SEO का 1st Step ही है। क्योंकि जब तक आपके पास अपनी वेबसाइट के लिए या फिर कोई भी Blog Post लिखने के लिए कोई टॉपिक ही नहीं होगा तो फिर आप अपनी साइट पर क्या कंटेंट डालोगे? और यह Keyword Research से ही संभव हैं।

अगर Keyword Research को एकदम सरल शब्दों में परिभाषित किया जाए तो वेबसाइट पर के लिए कोई भी Content लिखने से पहले Bloggers के द्वारा internet पर जो भी Research किया जाता हैं उसे ही Keyword Research कहते हैं। इसके लिए नीचे एक Detailed Keyword Research Hindi Guide हैं:

Keyword Research करते समय Bloggers के द्वारा मुख्य रूप से निम्न बातों का ध्यान रखा जाता हैं जैसे कि

  1. Internet पर इस समय लोग क्या अधिक Search कर रहे हैं?
  2. उस टॉपिक को कितने लोगों द्वारा इंटरनेट पर खोजा जा रहा हैं? (Monthly)
  3. उस टॉपिक के लिए Competition कितना हैं?

Keyword मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं।

Short Tail Keyword: ये वो Keywords होते हैं जो 1 या 2 शब्दों से ही बने होते हैं जैसे कि SEO Tutorial, Keyword Research आदि। इन्टरनेट पर ऐसे Keywords की Monthy Searches काफी अधिक रहती हैं जिसके कारण इनका Competition बहुत High रहता हैं और ऐसे Short Tail Keywords पर Search Engine के 1st Page पर Rank करना बहुत ही मुश्किल कार्य रहता हैं।

Long Tail Keywords: इस प्रकार के Keywords में 2 से अधिक 3-4 या उससे भी अधिक शब्दों का समूह हो सकता हैं जैसे कि SEO Tutorial in Hindi, Best WordPress Tutorial in Hindi for Beginners आदि। Short Tail Keywords की तुलना में Long Tail Keywords पर Competition काफी कम होता हैं जिसके कारण इन पर Rank करना थोड़ा आसान रहता हैं। इसलिए अगर आपकी एक नई साईट हैं तो आपको ज्यादा से ज्यादा Long Tail Keywords पर Focus करना चाहिए।

Keyword Research के क्या फायदे हैं?

  • Blogging में Keyword Research करने के बहुत से लाभ हैं जैसे कि:
    • आपके ब्लॉग को बहुत जल्द Popular होने में Keyword Research का अहम रोल होता हैं।
    • आपकी वेबसाइट की रैंकिंग improve होती हैं जिससे Traffic बढ़ता और Earning भी Boost होती हैं।
    • Keyword Research करने से Blog के लिए High Quality Content लिखने में हेल्प मिलती हैं।
    • किसी भी Keyword की Search Volume और Competition मालूम चलता हैं।
    • अच्छे से Research कर आप अपने ब्लॉग पर Targeted Visitors से Connect हो सकते हो।

Keyword Research करने के लिए Best Tool

Internet पर ऐसे काफी Online Tools हैं जिनकी Help से आप अपने ब्लॉग के लिए अच्छे से Keyword Research कर सकते हो। यहां मैं नीचे कुछ Best Keyword Research Tool के बारे में बता रहा हूं।

1. Answer The Public: यह एक Free Keyword Research Tool हैं। जो दो Most Popular Search Engine Google और Bing की Help से Keyword ideas प्रदान करता हैं। किसी भी Topic के लिए आपको यह Related और Question Keyword Suggest करता हैं।

2. Google AutoComplete Tool: इस Tool को तो आपने काफी बार use भी किया होगा। जब आप Google पर कुछ Type करते हैं तो Type करते समय ही Google कुछ Related Keywords के लिए Suggest करता हैं। आप जिस भी टॉपिक पर पोस्ट लिखना चाहते हैं Type करना शुरू करें और यह आपको उससे सम्बंधित Long Tail Keywords के Suggestions देने लगता हैं। उनमें से जो आपको सही लगे उस पर पोस्ट लिख सकते हो।

Google AutoComplete Keyword Research Tool

3. Google Keyword Planner: Keyword Research करने के लिए यह Google का अपना Official Research Tool हैं। आप इसमें Short Tail और Long Tail Keywords दोनों पर Research कर सकते हो। इसमें आपको Keyword की Monthly Searches, CPC, Competition आदि का भी पता चलता हैं। इसके अलावा आप Country के आधार पर भी कीवर्ड रिसर्च कर सकते हो।

4. Google Related Keyword Research: अपनी ब्लॉग पोस्ट के लिए Long Tail Keywords खोजने के लिए यह एक बढ़िया तरीका हो सकता हैं। जब भी आप Google पर कुछ Search करते हैं तो सबसे नीचे कुछ Related Keywords दिखाई देते हैं। आप इनमे से भी Keyword ideas ले सकते हो।

Google Se Keyword Research Kaise Kare in Hindi

5. UberSuggest: इन्टरनेट की दुनिया के मशहूर Digital Marketer “Neil Patel” द्वारा बनाया गया यह एक बहुत ही उम्दा Keyword Research Tool हैं। इसका User Interface भी एकदम आसान हैं जिसे समझना और Use करना अधिक मुश्किल नहीं हैं। इसमें आप Domain Analysis, Backlinks, CPC, Search Volume आदि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हो।

Ubersuggest Me Keyword Research Kaise Kare?

6. SemRush: अगर आप Keyword Research करने के साथ-साथ अपने Blogging Competitors की Site पर भी नजर रखना चाहते हो तो SEMRush से बेहतर कोई और Tool नहीं हो सकता। यह All in One Freemium SEO Tool हैं। Backlinks, Search Volume, CPC, Competition, Social Analysis आदि इसके मुख्य Features हैं। हालांकि इसके Free Version में limited features ही हैं और इसका Paid Version $99 .95 per month से शुरु होता हैं।

Keyword Magic Tool in SEMrush for Keyword Research

7. Ahrefs: Keyword Research के लिए यह भी एक Freemium SEO Tool हैं। यह एक तरह से SEMRush का Competitor हैं। लेकिन अगर मैं अपनी बात करूं तो Ahrefs के मुकाबले SEMRush मुझे काफी अच्छा Tool लगा।

Ahrefs Keyword Research Tool

Google Keyword Planner में Keyword Research कैसे करें?

एक Beginner के लिए मैं हमेशा शुरुआत में Free Keyword Research Tool को इस्तेमाल करने की ही सलाह दूंगा। जिसके लिए Google Keyword Planner सबसे Best हैं और यह एकदम फ्री है।

Google Keyword Planner Ko Kaise Use Kare in Hindi?

इसको इस्तेमाल करने के लिए सबसे आपको https://ads.google.com/keywordplanner पर Sign-Up करना होगा। Sign up करने के बाद Tools & Settings>>Keyword Planner पर क्लिक कीजिए।

इसके बाद जब आप इसे Use करते हैं तो Keyword Research करने के लिए इसमें आपको 2 options मिलते हैं।

Google Keyword Planner Tool

1. Discover New Keywords: इस Option के माध्यम से आप अपनी अपने Blog के लिए नए-नए Keywords, Monthly Searches, CPC Competition आदि मालूम कर सकते हो।

2. Get search volume and forecasts: यदि आपके पास पहले से ही कोई Keyword हैं तो इस Tool की help से आप उसका Data ले सकते हैं जैसे कि वह Keyword आगे Future में कैसे कार्य करेगा? अगर उस पर अपने ब्लॉग के लिए कोई Ads Run करते हो तो अगले 30 दिनों में कितने Clicks, Impression, Cost, CTR आदि आएंगे? चलिए एक-एक करके इन दोनों Options के बारें में Detail में समझते हैं कि ये किस प्रकार Work करते हैं?

Discover New Keywords:

अगर आप अपनी ब्लॉग पोस्ट लिखने के लिए कुछ नए और अच्छे Keywords Find करने चाहते हैं तो आपको इस Discover New Keywords वाले Option का चुनाव करना होगा। इस पर क्लिक करने के बाद आप कोई भी एक Keyword, Phrase ड़ाले।

Keyword Research in Google Keyword Planner

जो भी Keyword आपने डाला हैं Keyword Planner आपके लिए उससे सम्बंधित काफी सारे और Different Keywords आपके सामने Avg. Monthly Searches, Competition आदि के साथ दिखा देता हैं। आप चाहें तो एक साथ कितने ही Keywords के लिए Data Search कर सकते हो।

Find Keywords in Google Keyword Planner

START WITH A WEBSITE वाले Option पर क्लिक कर आप चाहें तो किसी ब्लॉग का URL भी डाल सकते हो जिस भी ब्लॉग से आप Keyword उठाना चाहते हो।

Get Search Volume and Forecasts

यह Option विशेष रूप से उस समय काम आता हैं जब आप अपनी Site के लिए किसी विशेष Keyword पर ADs चलाना चाहते हैं आप जिन भी Keywords को Ad के लिए Target करना चाहते हैं उन सभी को यहाँ Type करें और GET STARTED पर क्लिक कीजिए।

Google Keyword Planner Ko Kaise Use Kare in Hindi?

GET STARTED पर क्लिक करने के बाद यह आपको दिखाता हैं कि आने वाले 30 दिनों के अंदर उस Keyword पर कितने Clicks, Impressions और Budget की हो सकता हैं। जिसके हिसाब से आप Ad चला सकते हो।

Google Keyword Planner Ko Kaise Use Kare in Hindi?

Keyword Planner में Best Keyword कैसे चुनें?

अगर वास्तव में एक Best Keyword चुनने की बात करूँ तो ऐसा कोई भी SEO Tool नहीं जो आपको खुद ही Best Keywords निकालकर दे दे। कोई भी Best Keyword चुनने के लिए आपको कुछ बातों का खुद ही विशेष ध्यान रखना पड़ता हैं। हालांकि यह थोड़ा सा मुश्किल कार्य जरुर होता हैं लेकिन Google Keyword Planner का उपयोग करके आप अपने लिए कैसे Best Keywords निकाल सकते हैं इसके लिए मैं आपको कुछ जरुरी Tips देने जा रहा हूँ।

सबसे पहले Discover New Keywords पर जाए जैसा कि मैंने ऊपर भी बताया था और जो भी Targted Keyword के लिए आप Data प्राप्त करना चाहते हैं वह Type करें।

उदहारण के तौर पर मान लीजिए आपका Targeted Keyword “How to Start a Blog” हैं। यह Type करने के बाद Get Started पर क्लिक कीजिए।

How to DO Keyword Research in Google Keyword Planner?

अब आपके सामने उस Keyword से संबंधित काफी सारे Keywords आ जाते हैं। अब इतने Keywords में से आपको यह कैसे मालूम चलेगा कि कौन-सा Best Keyword हैं? यह पता लगाने के लिए आपको कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना होगा जोकि मैं नीचे बता रहा हूं।

1. हमेशा Low Competition Keywords को Target करें?

Low Competition Keywords आपकी साइट को Search Engine में जल्दी Rank कराने में Helpful होते है। इसलिए अगर आपकी एक नई साइट हैं जिसकी Domain Authority भी कम है तो आप हमेशा ऐसे ही Keywords को Target करें।

2. Higher Search Volume Keywords को Focus करें।

Low Competition Keywords और High Search Volume इन दोनों कंडीशन के साथ Keyword Find करना थोड़ा मुश्किल कार्य जरूर होता हैं लेकिन कोशिश करें कि आप कुछ ऐसे Keywords को Search कर सके। जिन Keywords के लिए ज्यादा Search होता हैं उनसे आपकी वेबसाइट पर अधिक Traffic Drive होगा।

3. Long Tail Keywords का इस्तेमाल करें।

इस प्रकार के keywords Search Engine में बहुत ही जल्दी रैंक होते हैं। जैसा कि मैंने ऊपर भी बताया था कि 4 या 5 या फिर उससे अधिक शब्दों वाले Keywords को Long Tail Keywords कहते है।

अगर आप अपनी हर ब्लॉग पोस्ट को इस प्रकार के Keywords से Optimize करते हो तो बहुत ही जल्द अच्छे Resulte मिलेंगे क्योंकि ऐसे Keywords में Competition बहुत ही Low रहता हैं।

एक बार अगर आपकी साइट Long Tail Keywords पर अच्छे से रैंक कर जाती हैं तो फिर आपको Short Tail Keywords पर भी रैंक काराने में हेल्प मिलती हैं।

Competitior Website के High Ranking Keywords खोजे।

Google Keyword Planner की Help से आप अपने Competitor की Site के High Ranking Keywords के बारे में भी पता लगा सकते हैं। इसके लिए बाद START WITH WEBSITE पर क्लिक कर अपने Competitor की साइट का URL टाईप करें।

Find High Ranking Keyword from any Website

अब उस वेबसाइट के लगभग सभी High Ranking Keywords की List आपके सामने आ जाएगी। जिनमे से अच्छे-अच्छे Keywords को आप अपनी Next Blog Posts के लिए चुन सकते हो।

How to Find High Ranking Keyword from any Blog in Hindi?

अपनी Blog Post का On Page SEO improve करें।

On Page SEO Kya Hai? इसके बारे में शुरू में ही इस पोस्ट में बता चुका हूं लेकिन अगर आपने उस समय थोड़ा ध्यान नहीं दिया तो चलिए एक बार फिर से थोड़ा सा बता देता हूं।

अपने Blog पर या Blog Post लिखते समय Search Engine Ranking factors को ध्यान में रखते हुए जो भी SEO Techniques Post में लगाई जाती हैं वो सभी On Page SEO के अन्तर्गत ही आती हैं।

नीचे में On Page SEO के लिए कुछ ऐसी ही SEO Techniques के बारे में बताने जा रहा हूं जिनका Blog Post लिखते समय आपको विशेष ध्यान रखना चाहिए।

1. Quality Content लिखें।

अगर ब्लॉगिंग में आपने थोड़ा भी समय बिताया हैं तो आपने यह तो सुना ही होगा कि Content ही King होता हैं। मतलब कि बाकी सब चीजें बाद में आती हैं सबसे पहले आपका Content ही सबकुछ होता हैं।

अगर आपके कंटेंट में ही वो क्वॉलिटी नहीं हैं तो बाकी और SEO Techniques को लगाने का कोई फायदा नही हैं। अपने ब्लॉग पर आने वाले Visitors को ऐसा Content दे जिससे उनको कुछ जानकारी प्राप्त हो सके। पोस्ट ऐसी होनी चाहिए अगर किसी के बारे में कोई पोस्ट पढ़ रहा है तो फिर उसे उस जानकारी के लिए किसी दूसरे ब्लॉग पर न जाना पड़े।

2. Eye Catchy Post Title लिखें।

Google Search Results में सबसे पहले किसी भी ब्लॉग पोस्ट का Title ही दिखाई देता था। अगर एक Eye Catchy और Unique Post Title आपने लिखा हुआ हैं तो उस पर Clicks मिलने के अधिक Chance होते हैं।

Post Title और SEO Post Title दोनों को अलग-अलग तरीके से लिखें ताकि आपकी ब्लॉग पोस्ट और भी अच्छे से Optimize हो सकें। अगर आप WordPress User हैं तो इसके लिए आप Yoast SEO या Rank Math SEO किसी भी एक WordPress Plugin का इस्तेमाल कर सकते हो।

एक Eye Catchy Blog Post Title लिखने के लिए निम्न बातों को ध्यान में रखना चाहिए।

  • 1. Post Title और SEO Post Title दोनों में Post के मुख्य Focus Keyword को जरूर रखें।
  • 2. Title को थोड़ा छोटा ही लिखनें की कोशिश करें। ज्यादा लंबा Title लिखने पर वह Search Results में पूरा नहीं दिखता हैं जो थोड़ा Spammy सा दिखाई पड़ता हैं। Title ज्यादा से ज्यादा 65 Words का होना चाहिए उससे अधिक नहीं।
  • 3. टाइटल में अगर जरूरत हो तो संख्याओं और कुछ आकर्षक शब्दों को भी Add करें जैसे कि

यहां पर मैंने 65+ High Ranking, 8+ Best, 10+ Amazing जैसे आकर्षक शब्दों और संख्याओं का इस्तेमाल किया हैं आपको भी ऐसे ही करना चाहिए। कुछ और शब्द जैसे कि Ultimate, Guide, Proven Ways, Top, Checklist आदि। ऐसे Title पर Clicks अधिक मिलते हैं जिससे आपका CTR और Ranking दोनों improve होती हैं।

  • 4. अपनी Blog Post से सम्बंधित ही टाइटल लिखें, Keyword Stuffing बिल्कुल न करें।

3. Detailed Blog Post लिखने की कोशिश करें।

Blog Post लिखते समय कोशिश करें कि वह एक Detailed Blog Post हो। मतलब कि जिस भी टॉपिक के बारे में आप जानकारी दे रहे हो उसके बारे में Detail में A to Z जानकारी होनी चाहिए।

बड़े-बड़े SEO Experts के अनुसार छोटी ब्लॉग पोस्ट के मुकाबले बड़ी ब्लॉग पोस्ट Search Engine में जल्दी रैंक और बढ़िया प्रदर्शन करती हैं। कोशिश करें कि पोस्ट में टोटल शब्दों की संख्या कम से कम 1000 या उससे अधिक हो। लेकिन पोस्ट को लंबा बनाने के चक्कर में कुछ भी बकवास न लिखें। इससे Visitors आपकी पोस्ट को पढ़ेंगे ही नहीं और Back चले जाएंगे जिससे अपनी साइट का Bounce Rate बढ़ जाएगा।

4. Post के Permalink (URL) को SEO Friendly और छोटा ही रखें।

किसी भी ब्लॉग पोस्ट का Permalink भी एक बहुत ही important Ranking Factor हैं। Post Permalink हमेशा SEO Friendly होना चाहिए। जैसे कि

  • Post URL को छोटे से छोटा रखने की कोशिश करें।
  • अपने मुख्य Targeted Keywords को भी Permalink में जरूर स्थान दे।
  • Permalink में Stop Words जैसे कि to, in, the आदि का इस्तेमाल न करें।
  • कभी भी URL में Year जैसे कि 2020, 2021 का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

5. Focus Keyword को शुरूआत और आखिर में जरूर रखें।

कोशिश करें कि जब भी आप कोई Blog Post लिखें तो Post के शुरूआती 2 Paragraps के अंदर अपने मुख्य Focus Keyword को जरूर रखें। इसके अलावा पोस्ट के अंतिम पैराग्राफ में भी Targeted Keyword को रखने की कोशिश करें। इससे Google को आपकी पोस्ट को समझने में Easy रहता हैं।

6. Blog Post एकदम Easy to Read होनी चाहिए।

एक बात आपको हमेशा याद रखनी चाहिए कि आप ब्लॉग पोस्ट User के लिए लिखें न कि Google के लिए। Google उन Sites को ही Love करता हैं जिन्हें लोग पसन्द करते हैं। इसलिए कंटेंट ऐसा लिखें जिसे लोग ज्यादा से ज्यादा पढें।

Blog Post को Search Engine के हिसाब से Optimize करते समय User Experience का भी ध्यान रखें। ताकि User को आपकी ब्लॉग पोस्ट पढ़ने में किसी भी तरह की परेसानी न हो। इसके लिए आप निम्न बातों का ध्यान रख सकते हैं।

  • अपनी ब्लॉग पोस्ट के अंदर इतना Font Size रखें जो Easy to Read हो यानी कि User को उसे पढ़ने में Page को Zoom न करना पड़ें। इसके लिए मैं आपको कम से कम 17px या 18px तक का Font Size रखने की सलहा दूंगा।
  • Blog Post को SEO Optimize करते समय Headings का भी विशेष ध्यान रखें। Headings आपकी पोस्ट को Search Eangine और User दोनों को पढ़ने और समझने के लिए आसान बनाती हैं।
  • ज्यादा बड़े-बड़े पैराग्राफ बिल्कुल न लिखें। एक पैराग्राफ में ज्यादा से ज्यादा 3 या 4 Lines तक ही रखनी चाहिए। अगर Words की बात करें तो एक पैराग्राफ को 100 Words के अंदर की सीमित रखने की कोशिश करें।
  • User को बात आसानी से समझाने के लिए और Post को Interesting बनाने के लिए images का प्रयोग करें। एक अच्छी image लगभग 1000 शब्दों के बराबर होती हैं। image के अलावा अगर आप वीडियो का Use करते हैं तो बहुत ही अच्छी बात हैं।
  • पोस्ट में बताए गए कुछ प्रमुख Points को Bold या Italic रखने की आदत ड़ालें।

7. Keyword Density का ध्यान रखें।

Keyword Density का सीधा मतलब Post में इस्तेमाल किए जा रहें Focus Keyword से सम्बंधित हैं। कभी भी अपने Focus Keyword को Post में लिमिट से ज्यादा बार-बार Repeat न करें। Focus Keyword ज्यादा-से ज्यादा 1.5% से 2% तक की ही Keyword Density होनी चाहिए।

अगर आप एक ही Targeted Keyword को इससे ज्यादा बार-बार Repeat करते हैं तो आपकी साईट को Negative SEO की तरफ ले जाता हैं। इसे Keyword Stuffing भी कहते हैं। मुख्य कीवर्ड के अलावा आप उससे Related Keywords को Use कर सकते हो उसमे कोई दिक्कत नहीं हैं। जैसे कि इस पोस्ट के लिए मैं Best SEO Tutorial in Hindi के अलावा Best SEO Tips in Hindi और Full SEO Hindi Guide for Beginners भी Use कर सकता हूँ।

8. Internal linking भी बहुत जरुरी हैं।

On Page SEO के लिए Blog Posts में internal linking एक बहुत ही important SEO Factor हैं। अपने ब्लॉग की एक Post से दूसरी Posts को Link करना Internal Linking कहलाता हैं। इंटरनल लिंकिंग के कुछ मुख्य लाभ इस प्रकार हैं।

  • Interlinking के द्वारा आपकी ब्लॉग पोस्ट विजिटर्स के लिए ज्यादा Useful और SEO Friendly हो जाती हैं।
  • आपकी Blog का Bounce Rate कम करने में बहुत ही अधिक हेल्पफुल हैं।
  • Crawling के समय Google bots के लिए Website के content को Crawl करने में बहुत आसानी होती हैं जिससे आपकी साइट Search Engine में Fast index होती हैं।
  • User एक पोस्ट के अलावा Link की गई बाकी दूसरी Post को भी पढ़ते हैं जिससे Page Views बढ़ते हैं।

9. अच्छे से Image Optimization करें।

Blog को SEO Friendly बनाने में Images का भी बहुत योगदान होता हैं। अगर आप साईट की loading Speed Slow हैं तो कहीं न कहीं Images इसकी वजह हो सकती हैं। इसलिए यह जरुरी हैं कि images को साईट पर अपलोड करने से पहले अच्छे से Compress कर लेना चाहिए।

अगर आप Photoshop use करते हैं तो Files >> Save for Web की Help से आप अपनी images को अच्छे से Compress कर सकते हैं। इसके अलावा TinyPNG नाम की Website की help से भी आप अपनी images का Size काफी कम कर सकते हो। और हाँ upload करने से पहले images का नाम वो ही रखें जिससे वो सम्बंधित हैं। 1, 2, 3 या image-1, image-2 ऐसा बिल्कुल न रखें।

जब आप images को अपनी साईट पर upload कर देते हो तो उस समय images में Alt Tag जरुर लगाए क्योंकि Search Engine (Googlebots) Crawling के समय images को Read नहीं कर सकती वो सिर्फ उनमे लगे Alt Tags की help से ही images find करती हैं। अगर आप Alt Tag use नहीं करते हो तो Search Results में आपकी images Show ही नहीं होंगी जिससे आपको काफी Traffic का नुकसान हो सकता हैं क्योंकि images भी आपकी साईट पर कुछ Traffic भेजने में मदद करती हैं।

10. Page Loading Speed को Improve करें।

किसी भी Site की Slow Loading Speed भी उसके SEO के लिए एक Negative Point हैं। Google के अनुसार Site की Speed भी एक important Ranking Factor हैं। अगर आपकी साईट लोड होने में अधिक समय लेती हैं तो यह साईट की Future Ranking के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं। इसके कुछ Negative Points इस प्रकार हैं:

  • Visitors आपकी साईट के जल्दी से लोड न होने की वजह से तुरंत वापस चले जायेंगे। जिससे साइट के Page Views कम होंगे।
  • Page Views कम होने की वजह से आपकी Blog से Earning भी कम होगी।
  • Blog का Bounce Rate लगातार बढ़ता चला जाएगा।
  • Blog पर User Experience खराब होता हैं।
  • आपका ब्लॉग कभी भी Search Engine में अच्छे से रैंक नहीं करेगा।

कुछ important Steps को Follow करके आप अपने ब्लॉग की Slow Loading Speed को improve कर सकते हो।

  • PHP के Latest Version को Use करें।
  • अधिक WordPress Plugins को Use न करें, सिर्फ जो जरूरी हैं वो ही install कीजिए।
  • Upload करने से पहले image को अच्छे से Compress कर लेना चाहिए।
  • काफी Files और images ऐसी होती है जिनका बाद में कोई कार्य नहीं होता हैं। ऐसी सभी Unwanted Media Files को Delete कर दे।
  • अच्छी Web Hosting का इस्तेमाल करें।
  • CSS और JawaScript Files को Minify करके रखें।
  • किसी भी एक अच्छे Cache Plugin को उपयोग करें।

Website के लिए एक Robot.txt file बनाए।

यह आपके लिए थोड़ा-सा Technical हो सकता हैं। क्योंकि यह Step Technical SEO को Cover करता हैं।

Robot.txt आपकी वेबसाइट की Web Hosting के cPanel में स्तिथ एक छोटी-सी text file होती हैं। आपकी Site में Robot.txt file का मुख्य कार्य Search Engine bots को यह निर्देश देना होता हैं कि Crawling के समय उन्हें Site की किस File को Crawl करना है और किसको नहीं।

अगर इसे आसान शब्दों में कहें तो Site के जिन-जिन Content को आप Search Engine में index नहीं करना चाहते हो उन्हें Robot.txt file के माध्यम से Crawler की नजरो से hide कर दिया जाता हैं। और बाकी Content को Crawling के लिऐ Visible कर छोड़ दिया जाता हैं।

Robot.txt file को Create, Edit या फिर यूं कहें कि Optimize करने के लिए आपको थोड़ी-सी Technical Knowledge होना जरुरी हैं नहीं तो थोड़ी सी भी असावधानी आपकी साइट को Search Engine से Hide भी कर सकती हैं।

Link Building SEO Tutorial in Hindi

Link Building किसी भी वेबसाइट की Higher Ranking में एक बहुत ही Important SEO Factor हैं। यह आपकी साईट को SERP (Search Engine Result Page) में Top स्थान प्राप्त करने में मदद करते हैं। यदि आपकी साईट किसी भी High Authority Website से Link होती हैं तो यह आपकी Site के SEO के लिए एक Positive Point होता हैं जिससे Search Engine की नजरों में आपकी Website की Authority बढ़ती हैं और आपको Search Results में Top Rank मिलने की संभावनाए बढ़ जाती हैं।

इस प्रकार आपकी साईट का किसी दूसरी साईट पर लिंक होना आपकी साईट के लिए एक Backlink कहलाता हैं। Site के लिए अधिक Backlinks का होना कहीं-न-कहीं उसकी Ranking को Boost करने में Help करता हैं। Link Building से सम्बंधित कुछ जरुरी जानकारी जो आपके लिए जानना आवश्यक हैं।

जैसा कि मैंने अभी बताया जब कोई दूसरी Website आपकी Site को कोई Link देती हैं तो वह आपकी Site के लिए Search Engine की नजरों में एक Backlink की तरह Count होता हैं। इस प्रकार प्राप्त Backlink दो प्रकार के हो सकते हैं:

  1. Do-Follow Backlinks
  2. No-Follow Backlinks

Do-Follow Backlinks क्या होते हैं?

Dofollow Links या Backlinks ऐसे links होते हैं जो आपकी वेबसाइट की Ranking को Boost करने में मदद करते हैं। Do-follow backlinks Link Juice paas करते हैं। जिससे Search Engine bots को आपकी साइट को Follow करने में मदद मिलती हैं।

ये Links Default रूप से Dofollow ही होती हैं मतलब कि इस प्रकार की Links में कोई Attributes नहीं होता हैं। यह एक Simple Link के समान ही होती हैं। दूसरी साइट पर Linked आपकी Site के ऐसे Link को Search Engine Seriously लेते हैं। इसी वजह से SERP (Search Engine Result Page) में Ranking improve होती है।

एक Dofollow link का HTML Version कुछ इस प्रकार दिखाईं देता हैं:

<a href=“https://indigyan.com/”>INDI GYAN</a>

No-Follow Backlinks क्या होते हैं।

No-Follow links एकदम Do-Follow Links के विपरीत होते हैं। इससे आपकी Website की Ranking में कुछ खास फर्क नहीं पड़ता हैं। इस प्रकार के Links के माध्यम से किसी भी प्रकार का Link Juice Paas नहीं होता हैं। इसीलिए Search Engine Bots के द्वारा इन्हें Follow नहीं किया जाता हैं।

ऐसे links में एक खास No-Follow HTML attribute लगा होता हैं। जो Google Bots को ऐसे सभी Links को Follow करने से रोकता हैं। एक No-Follow Link कुछ इस प्रकार दिखाई देता हैं:

<a href=”https://indigyan.com” rel=”nofollow”>INDI GYAN</a>

High Quality Backlink कैसे बनाएं?

अगर आप अपने ब्लॉग को जल्दी रैंक कराना चाहते हैं तो इसके लिए High Quality Backlink बनाना सबसे अच्छा तरीका हैं। लेकिन एक अच्छी साइट से एक Do-Follow Backlink प्राप्त करना बिल्कुल भी आसान कार्य नहीं हैं।

लेकिन अगर आप Blogging करते समय कुछ बातों का ध्यान और सही तरीकों का इस्तेमाल करते हैं तो आप जल्द ही High Quality Backlinks प्राप्त करने में सफल हो सकते हो। नीचे मैं कुछ ऐसे ही Important Points Share करने जा रहा हूं जो आपको HQB दिलाने में हेल्प करेंगे।

1. हमेशा Quality Content पर Focus करें।

अगर आपके ब्लॉग के कंटेंट में दम है तो फिर बाकी चीजें आसान हो जाती हैं। क्योंकि अपने Users को Quality Content देना ही हर ब्लॉग की मुख्य Priority होनी चाहिए। अगर आप अपने ब्लॉग पर ऐसा Content Publish कर रहे हैं जो User को Value दे रहा हैं तो लोग आपके कंटेंट को खुद ही अपनी Site पर Link करें ऐसे काफी ज्यादा Chances बढ़ जाते हैं। जिससे आपको खुद ही High Quality Backlinks मिलेंगे।

2. Guest Posting भी एक अचूक उपाय हैं।

Guest Post के द्वारा High Quality Backlinks Generate करना सबसे सर्वोत्तम तरीकों में से एक हैं। इंटरनेट पर ऐसे बहुत सारे Blogs हैं जो Guest Post accept करते हैं। ऐसे Blogs के लिए आप एक-एक अच्छी से पोस्ट लिखकर अपने ब्लॉग के लिए Backlink प्राप्त कर सकते हो।

3. Social Networking Sites पर Account बनाएं।

Social Backlinks भी काफी महत्वपूर्ण होते हैं। इसलिए सभी Popular Social Media Sites पर account बनाए और फिर उनमें अपने Blog URL को Add करें।

4. Competitiors के Backlinks को Target करें।

आपके Blog Niche से संबंधित आपके जो भी Competitor हैं उनके साइट के Backlinks पर Spy तरीके से नजर रखें। मालूम करें कि उन्होंने कहां और किस तरीके से Backlinks बनाए हैं? आप भी वहां से Backlinks बनाने की कोशिश कीजिए।

Competitiors के Backlinks पता करने के लिए आप UberSuggest, SEMRush, जैसे Online SEO Platforms का इस्तेमाल कर सकते हो।

5. Blogs पर Comments करें।

हालांकि Backlink प्राप्त करने का सबसे पुराना और आसान तरीका हैं। लेकिन इससे Do-Follow नहीं बल्कि No-Follow Backlinks ही बनाए जा सकते हैं जोकि SEO में उतने Effective नहीं होते हैं। लेकिन थोड़ा work तो करते ही हैं। अगर आप एकदम New Blogger हैं तो यह तरीका अपना सकते हो हालांकि मैं इसके लिए Recommend नहीं करता।

Blog का Promotion Start करें

काफी लोग का सोचना होता हैं कि प्रमोशन SEO का पार्ट नहीं हैं लेकिन मेरा मानना हैं कि Promotion एक तरह से SEO का Most important और आखिरी Step हैं। क्योंकि अपने ब्लॉग पर सिर्फ On Page SEO कर Content को पब्लिश कर छोड़ देने भर से ही SEO का काम पूरा नहीं होता हैं।

बिना Promotion के आपकी सारी मेहनत व्यर्थ ही जाने वाली हैं। शुरुआत में आपको अपने कंटेंट को लोगो तक पहुंचाना पड़ेगा तभी वो धीरे-धीरे रैंक होना शुरू होगा। और एक बार अच्छे से रैंक होने के बाद जब Organic Traffic आने लगे तो किसी बात की परेशानी नहीं हैं आप अपना SEO का कार्य पूर्ण रूप से और अच्छे से कर चुके हैं।

नीचे मैं Blog Post Promotion के कुछ सर्वोत्तम और Genuine तरीके बताने जा रहा हूं जिन्हें हर New Blogger को अपने कंटेंट को प्रमोट करने के लिए इस्तेमाल करना चाहिए।

1. Promotion के लिए Social Media का अच्छे से Use करें।

किसी भी Online Content को Promote करने के लिए Social Media आज के समय का सबसे अचूक नुस्खा हैं। क्योंकि इंटरनेट और स्मार्टफोन के जमाने में लगभग हर व्यक्ति किसी न किसी Social तरीके से जुड़ा हुआ हैं।

इसलिए अपने ब्लॉग के नाम से ही सभी Popular Social Networking Sites पर ही Official Account बनाएं। और ब्लॉग पर कंटेंट पब्लिश करने के बाद उन पर भी उस कंटेंट को शेयर करें।

2. Quora का उपयोग करना चाहिए।

अगर आप थोड़ा पहले से ब्लॉगिंग कर रहे हैं तो आपने बहुत ही Popular Question और Answer की वेबसाइट Quora का नाम तो सुना ही होगा। अपने ब्लॉग पर Targeted Audience लाने के लिए यह भी एक बहुत ही बढ़िया Site हैं।

आप इसमें अपने Blogging Niche से सम्बंधित अच्छे-अच्छे सावलों को Search करें और फिर उनका अच्छे से Details में Answer दे। Answer में आप अपने Blog या Blog Post का लिंक जरुर दे।

लेकिन याद रखें अपने हर Answer में लिंक डालना जरूरी नहीं हैं कुछ answer आप बिना लिंक के भी दे तो अच्छा होगा। क्योंकि पहले Quora पर थोड़ी Authority बनाए। एक Professional Blogger बनकर इसे हैंडल करें। वर्ना Quora आपको ब्लॉक भी कर सकता हैं।

3. Email Marketing का इस्तेमाल करें।

अगर आप Blogging को लेकर बिल्कुल Serious हैं तो E-mails Collect करना शुरू से ही Start करें। अपने ब्लॉग पर Visitors की Email Collect करने के लिए Newsletter Setup करें।

आप एक बार में एक हज़ार से भी अधिक Email अपने अपने Blog Subscribers को भेज सकते हो। ब्लॉग पर Push Notification को भी Add करें ताकि अगर कोई visitor चाहें तो Push Notification के लिए भी Subscribe कर सकें। इससे आप जब भी कोई New Post Publish करोगे तो उसका Notification भी उनके पास जाए और वो उस Post को पढ़ सकें।

4. Medium पर Account बनाएं।

Mediam के माध्यम से भी आप अपने ब्लॉग पर काफी Traffic प्राप्त कर सकते हो। यह एक Popular Blog Submission Directory हैं। इस पर अपनी ब्लॉग पोस्ट को ऐसा का ऐसा ही लिख सकते हो और बीच बीच में दूसरी Posts को लिंक कर दीजिए। इसके अलावा आप Read More लिखकर उस पूरी पोस्ट का लिंक दे सकते हो ताकि पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए User आपके ब्लॉग पर आए।

आपने क्या सीखा?

अगर आपने शुरू से अब तक यह SEO Tutorial in Hindi आर्टिकल ध्यानपूर्वक पढ़ा है तो SEO के कुछ important Factors के बारे में तो आपको कुछ जानकारी मिल ही गई होगी। जो आपके आने वाले Blogging सफर में काफी हेल्प करेगी।

हालांकि यह बात भी सौ टके सच हैं कि इस तरह के किसी भी एक छोटे से आर्टिकल के माध्यम से SEO को समझना और समझा पाना काफी मुश्किल है। लेकिन वो कहते हैं ना कि बूंद-बूंद से ही खड़ा भरता है इसलिए हर एक छोटी सी जानकारी से भी कुछ न कुछ सीखने की कोशिश करनी चाहिए।

और मेरा इस पोस्ट को लिखने मकसद भी यही है कि कम से कम आपको शुरु में SEO की बेसिक जानकारी तो होनी चाहिए बाकी आगे जैसे जैसे समय बीतेगा आप धीरे-धीरे SEO को अच्छे से भी समझने लगेंगे क्योंकि किसी भी कार्य लगातार अभ्यास से ही निपुणता आती हैं।

आशा करता हूं यह आर्टिकल SEO Tutorial for beginners in Hindi आपके लिए काफी हेल्पफुल रहा होगा! कृपया इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि यह पोस्ट अधिक से अधिक लोगों की और हेल्प कर सकें।

INDI GYAN को समय देने के लिए आपका धन्यवाद।
HAPPY BLOGGING!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.