Computer Keyboard क्या हैं? और कितने प्रकार के होते हैं?

COMPUTER में KEYBOARD क्या होता हैं और Keyboard कितने प्रकार के होते हैं? इसी विषय पर आज हम विस्तार से जानकारी देने जा रहे हैं। कंप्यूटर की जानकारी होने के बावजूद भी ऐसे बहुत लोग होते हैं जिन्हें कंप्यूटर के इस बहुत ही important Part के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती हैं। बिना कीबोर्ड के कंप्यूटर की कल्पना करना न के बराबर ही है।

इसलिए आपको Keyboard के बारे में अच्छी तरह से जानकारी रखना बहुत ही जरूरी है। जैसे कि Computer Keyboard Kya Hota Hai? कीबोर्ड को कैसे इस्तेमाल किया जाता है Keyword के कितने Parts होते हैं आदि।

अगर आप कंप्यूटर के बारे में थोड़ा बहुत जानते हैं तो आपको Keyboard के बारे में Basic Knowledge तो होगी ही। लेकिन इस आर्टिकल का मकसद आपको Keyboard से सम्बंधित एक व्यापक (विस्तारपूर्वक) जानकारी देना है ताकि आपके या किसी के भी Keyboard से Related जो भी सवाल है वो एकदम Clear हो जाएं।

तो चलिए बिना किसी और अतिरिक्त विलंब के अपने मुख्य टॉपिक की तरफ शब्दों की इस रेलगाड़ी को लेकर चलते हैं और सबसे पहले आसान शब्दों में समझते हैं कि COMPUTER में KEYBOARD KYA HOTA HAI?

कंप्यूटर कीबोर्ड क्या हैं? What is Computer Keyboard in Hindi?

यहां पर मैं जानकारी के लिए यह बताना चाहूंगा कि कंप्यूटर तीन महत्वपूर्ण Steps के माध्यम से कार्य को पूरा करता है। पहला Input Data, दूसरा Processing और तीसरा Output Data होता है। कंप्यूटर में कीबोर्ड को input Data के लिए इस्तेमाल किया जाता है इसलिए Keyboard को एक INPUT DEVICE भी कहते हैं।

हिंदी भाषा में कीबोर्ड को कुंजीपटल नाम से संबोधित किया गया हैं। मुख्य रूप से कंप्यूटर में कीबोर्ड Text लिखने और निर्देश (Command) देने के लिए प्रयोग किया जाता हैं। Input Data मतलब कि अपनी बात को कंप्यूटर तक पहुंचाने के लिए Keyboard के साथ दूसरी input Device MOUSE का भी इस्तेमाल करते हैं।

कभी-कभी Mouse के खराब होने पर कीबोर्ड को भी आप Mouse की तरह काम ले सकते हो लेकिन एक Mouse की तरह कीबोर्ड को इस्तेमाल करना बहुत समय लेने वाला काम होता हैं।

जब आप किसी INPUT DEVICE के माध्यम से कंप्यूटर को कोई Command देते हो तो वह Command Machine Coding language में बदल जाती हैं ताकि CPU (Control Processing Unit) आपके द्वारा दी गई उचित Command को आसानी से समझ सके और आपके लिए एक सही जानकारी Output Deliver कर सके।

KEYBOARD को COMPUTER से Connect कैसे करते हैं?

कीबोर्ड को कंप्यूटर से कनेक्ट करने के लिए आमतौर पर PS/2 Port, USB Port और Wireless Technology का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन input devices को कंप्यूटर से कनेक्ट करने के लिए PS/2 Port का प्रचलन पहले के मुकाबले अब धीरे-धीरे बहुत कम हो गया है।

Computer Keyboard Port Type in Hindi
Computer Keyboard Port Type in Hindi

अब USB Port और Wireless केवल ये दो ही मुख्य Connectivity Features ज्यादा Use हो रहे हैं। इन दोनों को कंप्यूटर से कनेक्ट करना PS/2 की अपेक्षा ज्यादा आसान है।

Connect करने के लिए Keyboard की Wire में लगे USB Port को CPU के पिछले हिस्से में बने USB Connector Port में insert करें। जबकि Wireless Keyboard को Connect करने के लिए आपको Computer और Keyword के WI-FI Connection को आपस में Pair करना होगा।

कीबोर्ड के प्रकार – Types of Computer Keyboard in Hindi

कीबोर्ड की बनावट और उनके Layout के आधार पर उन्हें अलग-अलग बांटा गया है। कीबोर्ड पर बनी कुंजियों (Keys) की विशेष प्रकार की बनावट को ही Layout कहा जाता हैं। इस पर बना कुंजियों (Keys) का अलग-अलग तरह का डिजाइन ही कीबोर्ड के आकार और प्रकार को भिन्न-भिन्न तरीको में बांटता है।

Region और Language के अनुसार भी Keyboards की Manufacturing को किया जाता हैं। लेकिन मुख्यत: Computer Keyboard तीन प्रकार के होते हैं।

  1. Qwerty
  2. Azerty
  3. Dvorak

1. QWERTY keyboard Layout:

इस प्रकार का Computer Keyboard Layout सबसे अधिक Popular और पूरे World में सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाला KEYBOARD हैं। अगर आप इस प्रकार के कीबोर्ड पर स्थित कुंजियों (Keys) को ध्यान से देखेंगे तो Alpha-bates के लिए बनाई गई कुंजियों में सबसे पहली 6 कुंजियां इस प्रकार के कीबोर्ड के नाम (QWERTY) को ही दर्शाती हैं।

About Qwerty Keyboard in Hindi

आज के आधुनिक कंप्यूटर के साथ सबसे अधिक इसी तरह के कीबोर्ड को इस्तेमाल में लिया जाता हैं। यह कीबोर्ड इतना प्रचलन में हैं कि लोगो को लगता है कीबोर्ड केवल इसी प्रकार का होता हैं जबकि ऐसा नहीं है। स्मार्टफोन में इस्तेमाल होने वाला कीबोर्ड भी QWERTY KEYBOARD ही होता हैं।

2. AZERTY Keyboard Layout:

यह Qwerty keyboard का ही एक और दूसरा Version है। इस प्रकार के कीबोर्ड का इस्तेमाल सबसे ज्यादा फ्रांस और यूरोप के कई दूसरे हिस्सों में किया जाता है। AZERTY KEYBOARD में Alphabates के लिए बनाई है सबसे पहली 6 कुंजियों (Keys) में QWERTY की जगह पर AZERTY लिखा होता है।

About Azerty Keyboard

QWERTY KEYBOARD में शुरू की दो कुंजियां Q और W की होती हैं जबकि AZERTY KEYBOARD में शुरू की दो कुंजियां A और Z की होती हैं। इसके अलावा Qwerty में M कुंजी Middle Row में Right Side में सबसे अंत में और Azerty में M कुंजी Last Row में Right Side में सबसे अंत में होती हैं।

3. DVORK Keyboard Layout:

इस प्रकार के कीबोर्ड को Specially Fast Typing Speed के लिए Design किया गया है। जिसके द्वारा आप QWERTY और AZERTY KEYBOARD के मुकाबले ज्यादा Fast तरीके से Typing कर सकते हो।

About Dvorak Keyboard

इस कीबोर्ड का नाम इसके डिज़ाइनर, Dr. August Dvorak के नाम पर रखा गया है। इसके Home Row में सबसे अधिक Use होने वाले अक्षरों को रखा गया है। Querty Keyboard में लगभग 56% टाइपिंग कुंजियां Left Side में होती हैं जबकि Dvorak Keyboard में 56% टाइपिंग कुंजियां Right Side में दी गईहैं।

Computer Keyboard के बटन की जानकारी:

Keyboard के अंदर आपको काफी सारे Buttons देखने को मिलते हैं जैसे कि Alphabates Leters, Numbers, Symbols और कुछ Special Command Buttons आदि। सभी से अलग-अलग कार्य लिया जाता हैं। इसीलिए कंप्यूटर पर कीबोर्ड के द्वारा किसी भी कार्य को अच्छे से और जल्दी करने के लिए आपको इन सभी कुंजियों (Keys/Buttons) के बारे में बहुत ही अच्छे से जानकारी होना आवश्यक है।

कुछ Keyboards में डिजाइनिंग के द्वारा थोड़ी Special Keys को Add कर दिया जाता हैं जो काम को Shortcuts तरीके से करने में मदद करते हैं लेकिन सभी Keyboards में Alphanumeric Keys एक समान होती हैं।

एक Normal Computer Keyboard के अंदर कुल 104 Buttons होते हैं। चलिए कंप्यूटर पर मौजूद सभी Buttons के बारे में अच्छे से समझते हैं।

Alphanumeric या Typing Buttons:

चाहे कीबोर्ड को किसी भी प्रकार से डिजाइन किया गया हो लेकिन Alphanumeric Buttons सभी प्रकार के Keyboards में एक समान ही होते हैं। Alphanumeric Buttons का मतलब होता हैं Letters (A, B, C) और Numbers (1, 2, 3).

यानिकि Alphanumeric Buttons के अंदर कीबोर्ड की केवल दो ही Categories आती है। एक वो जिनसे आप कोई Sentence लिखते हैं और दूसरी वो जो किसी वैल्यू के जोड़ने और घटाने का कार्य संभालती हैं।

अगर यहां पर Number Keys (1,2,3) की बात की जाए तो यह कीबोर्ड के दो अलग-अलग हिस्सों में होती हैं।

  • 1st: Letter Keys के बिल्कुल ऊपर
  • 2nd: Letter Keys के बिल्कुल Right Side में

Letter Keys के बिल्कुल ऊपर वाली नंबर कुंजियां Double Working कुंजियां होती हैं। जो Shift के साथ और बिना Shift के दोनों तरह से कार्य करती हैं।

अगर आप उन्हें Shift key के साथ Press करते हैं तो उस कुंजी (Key) पर जो Number होता है वह Type हो जाता है और अगर आप बिना Shift key के केवल उसी कुंजी को Press करते हैं तो उस कुंजी पर जो Symbol होता है वह Type हो जाता है।

Punctuation Buttons:

Keyboard पर जिन Keys को दबाने पर Punctuation Marks Type होते हैं उन्हें Punctuation Buttons कहते हैं। उदाहरण के तौर पर Comma Key, Colon Key, Semi Colon Key, Question Mark Key. ये सभी Keys Letters और Number Keys के बीच में होती हैं। Keyboard पर स्थित ये Keys भी Shift के साथ Press करने पर Double Keys की तरह काम करती हैं।

Navigation Buttons:

Letter Keys और Number Keys के बीच में सामान्यतः नीचे की तरफ कीबोर्ड में Navigation Key स्थित रहती हैं। जिन्हें Arrow keys भी कहते हैं। इनमें Total 4 Buttons होते हैं।

  1. UP Arrow
  2. Down Arrow
  3. Right Arrow
  4. Left Arrow

ये Keys कंप्यूटर स्क्रीन में Cursor को इधर-उधर करने में मदद करती हैं। जैसे कि हम mouse से Cursor को कंट्रोल करते हैं।

इसके अलावा Arrow keys के ऊपर कुछ और Navigation Keys होती हैं जैसे कि Home, End, Delete, Insert, Page Down, Page up.

Control Keys और Command Keys:

कंप्यूटर कीबोर्ड में कुछ ऐसी Keys भी होती हैं जिनका इस्तेमाल किसी दूसरी Key के साथ किसी कार्य को पूर्ण करने के लिए किया जाता हैं। ऐसी Keys को Control Keys कहते हैं। एक सामान्य कीबोर्ड में Ctrl key, Alt key, Shift key, Window key और Esc key Control Keys के अंतर्गत आती है।

अगर Command Keys की बात करें तो Menu key, Enter key, BackSpace key, Spacebar key, Scroll key, Pause Break key, PrtScr key आदि का उपयोग Command keys के रूप में किया जाता है।

Function Keys:

कंप्यूटर कीबोर्ड में सबसे ऊपर वाले हिस्से में F1 से लेकर F12 तक एक ही कतार में जो Keys बनी होती हैं वो सभी Function Keys होती हैं। इन Keys का प्रयोग कंप्यूटर में किसी विशेष कार्य को पूरा करने के लिए किया जाता हैं।

यह Keys Control Keys के Combination से भी काफी स्पेशल कार्य करती हैं। वैसे कंप्यूटर के हर प्रोग्राम में इन Function Keys का अलग-अलग कार्य होता हैं।

Indicator Light Keys:

आमतौर पर कंप्यूटर कीबोर्ड में सामान्य तौर पर तीन प्रकार की Indicator Light Keys होती है। Num Lock, Caps Lock और Scroll Lock.

जब कीबोर्ड के अंदर Num Lock की लाइट ON होती है तो इसका मतलब है कि Numeric Keypad चालू है और अगर वह Lite Off है तो Number Keypad काम नहीं करेग।

Caps Lock की Lite अगर ON हैं तो इस कंडीशन में कीबोर्ड के द्वारा जो भी Alphabates Type करेंगे तो वह केवल Upper Case में ही Type होगा। और अगर वह Caps Lock की Lite Off है तो Lower Case में Type होता है।

Scroll Lock Button का उपयोग बहुत पहले किया जाता था जब कंप्यूटर के साथ Mouse नहीं होता था। लेकिन आज भी यह बटन सभी कीबोर्ड में दिखाई देता है। अगर आज के समय में इस बटन के उपयोग की बात करें तो इसका बहुत ही कम उपयोग होता है। Specially यह Scrolling को Control करने के लिए दिया गया है। केवल Microsoft Excel में इस Button की Lite ON/Off करने पर इसका उपयोग देखा जा सकता है।

कुछ important Typing Keys उपयोग:

1. Tab Key ↹

कंप्यूटर कीबोर्ड में Caps Lock Key के बिल्कुल ऊपर Tab Key होती हैं। जिसे Tabulator Key या Tabular Key भी कहते हैं। इस Key का उपयोग Cursor को Next Tab Stop तक ले जाने में किया जाता है। अगर एकदम साधारण शब्दों में कहें तो इस Key का उपयोग कई अक्षरों जितना Space एक बार में ही करने के लिए किया जाता हैं।

2. Caps Lock Key:

कंप्यूटर में इस Key का उपयोग Letters को Uppercase और Lowercase में लिखने के लिए किया जाता हैं। Caps Lock के On रहने पर सभी Letters Uppercase में और Off रहने पर सभी Letters Lowercase में लिखें जाते हैं।

3. Shift Key:

Letters को Uppercase में लिखने के लिए भी Shift Key का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा कीबोर्ड पर बने हैं से बटन जिनके ऊपर दो अक्षर छपे होते हैं इनमें से ऊपर वाले अक्षर को Type करने के लिए भी Shift Key का इस्तेमाल करते हैं।

4. Spacebar Key:

कंप्यूटर कीबोर्ड में अगर कोई Key सबसे बड़ी होती है तो वह SPACEBAR वाली Key होती है। Spacebar Key Cursor को एक Space आगे करने में मदद करती है।

5. Enter Key:

Enter Key कीबोर्ड के अंदर सबसे महत्त्वपूर्ण कुंजियों में से एक है। Enter Key का उपयोग एक लाइन से दूसरी लाइन में प्रवेश करने के लिए किया जाता हैं। Enter Key को Press करते ही Cursor नीचे की दूसरी लाइन में पहुंच जाता है। Enter Key Mouse के Left Click की तरह भी कार्य करती हैं मतलब कि इससे OK की तरह भी कार्य लिया जाता है।

6. Backspace:

किसी भी शब्द के आगे के अक्षर या फिर Select किए गए अक्षरों को Delete करने के लिए BackSpace Key का इस्तेमाल किया जाता है।

कुछ मुख्य Control Keys और उनके उपयोग:

1. ESC Key:

ESC Key का पूरा नाम Escapse Key हैं। इस Key का उपयोग चल रहे किसी भी कार्य को Cancel करने के लिए किया जाता हैं।

2. Ctrl Key:

कंप्यूटर कीबोर्ड में Ctrl Key का Use Program Shortcuts के लिए किया जाता हैं। जैसे कि Print लेने के लिए Ctrl+P और कोई File Open करने के लिए Ctrl+O और किसी Program में New Page बनाने के लिए Ctrl+N को इस्तेमाल में लिया जाता है। Ctrl Key की Full Form Control Key होती हैं।

3. Alt Key:

यह Key भी Keyboard Shortcuts के जैसे ही इस्तेमाल की जाती हैं। इसका पूरा नाम Alter Key हैं।

4. Windows Logo Key:

कंप्यूटर में कीबोर्ड के माध्यम से START MENU को Open करने के लिए Windows Logo Key का इस्तेमाल किया जाता हैं। इस कुंजी को सिर्फ एक बार Press करते ही Start Menu खुल जाता हैं।

5. Menu Key:

Mouse के Right Click के समान ही कीबोर्ड में Menu Key का कार्य होता हैं। यह आपको वर्तमान में चल रहे किसी भी Running Program के लिए Options चुनने में Help करती हैं।

6. PrtScr Key:

इस Key का उपयोग वर्तमान समय में चल रहे किसी भी Running Program का ScreenShot लेने के लिए किया जाता हैं। उदाहरण के लिए जैसे हम अपने मोबाईल फोन में किसी चीज का ScreenShot लेते हैं बिल्कुल वैसे ही।

Keyboard Navigation Keys का उपयोग:

1. Arrow keys:

कीबोर्ड में बनी Arrow keys का इस्तेमाल काफी Important होता है। इसका Use Cursor को Arrow की दिशा में Move करने के लिए किया जाता है।

2. Home Key:

इस Key का उपयोग वर्तमान समय में Run हो रहे किसी भी Webpage, Document आदि में Cursor को एकदम शुरुआत में लाने के लिए किया जाता हैं। उदाहरण के लिए इस पोस्ट को पढ़ते समय अगर आप कीबोर्ड में Home Key को Press कर देते हैं तो आप इस पोस्ट के एकदम शुरुआत में पहुंच जाएंगे।

3. End Key:

End Key का इस्तेमाल एकदम Home Key का विपरीत होता हैं। इसकी सहायता से आप किसी डॉक्यूमेंट या वेबपेज के अंत में पहुंच जाते हैं। अगर आप अभी अपने कंप्यूटर कीबोर्ड में End Key को दबाते हैं तो आप इस Webpage के एकदम अंत में मतलब कि Footer में पहुंच चुके होंगे।

4. Insert Key:

Insert Mode को ON और OFF करने के लिए कीबोर्ड में Insert Key का इस्तेमाल किया जाता है।

5. Delete Key:

जिस प्रकार Backspace Key का इस्तेमाल किसी भी शब्द के आगे के या Selected Text को Delete करने के लिए किया जाता हैं ठीक उसी प्रकार Delete Key का इस्तेमाल शब्द के पीछे के Text को या Selected Text को Delete करने के लिए किया जाता है।

इसके अलावा Delete Key को Files, Folders को डिलीट करने के लिए भी Use किया जाता है।

6. Page Up Key:

Page Up Key का इस्तेमाल Cursor या वर्तमान Page को Screen Size के अनुसार एक Step ऊपर खिसकाने के लिए किया जाता हैं।

7. Page Down Key:

बिल्कुल Page up key के जैसे ही Page Down Key का इस्तेमाल Cursor या वर्तमान Page को Screen Size के अनुसार एक Step नीचे खिसकाने के लिए किया जाता हैं।

Numeric Keypad का उपयोग

कंप्यूटर कीबोर्ड के बिल्कुल Right Side में Numeric Keypad बना होता है। जिसमें 0 से लेकर 9 तक गणितीय संख्याएं चिन्हित होती है। इसके अलावा कुछ और गणितीय छिन्ह जैसे कि Addition, Subtraction, Division, Multiplication और decimal के चिन्ह भी बने होते है।

कंप्यूटर के अंदर कीबोर्ड के माध्यम से गणितीय संख्याएं लिखने के लिए Numeric Keypad का उपयोग किया जाता हैं। अगर देखा जाए तो कीबोर्ड में ये गणितीय संख्याएं दो स्थानों पर अंकित होती हैं। एक अल्फाबेटिक कीबोर्ड के बिल्कुल उपर और दूसरी कीबोर्ड के बिल्कुल Right Side में।

लेकिन राइट साइड में बनी न्यूमैरिक कीपैड के द्वारा बहुत जल्दी से टाइप किया जा सकता है वहीं Alphabatic Keys के ऊपर बने Numeric Buttons के द्वारा Type करने के लिए आपको Shift Key का सहारा लेना पड़ता है जिसमें काफी समय लगता है। Numeric Keypad के द्वारा गणितीय संख्या Type करने के लिए Num Lock का On होना जरूरी होता है।

आज आपने क्या-क्या सीखा?

कंप्यूटर कीबोर्ड से संबंधित इस महत्वपूर्ण आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको जानकारी दी थी Keyboard क्या होता है? What is Keyboard in Hindi? आपने Keyboard की सभी महत्वपूर्ण Keys के बारे में विस्तारित जानकारी प्राप्त की।

आशा करता हूं कि दी गई जानकारी आपको जरूर पसंद आया होगी। आपको यह पोस्ट कैसी लगी हमे Comment के माध्यम से जरूर बताए। इसके अलावा कीबोर्ड की इस Important जानकारी को Facebook, WhatsApp, Twitter आदि पर भी Share करें ताकि और लोगो को भी इस बारे में Complete जानकारी प्राप्त हो सकें।

जय हिन्द – जय भारत


👇:ऐसी ही और महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए:👇
अभी Blog News Letter को SUBSCRIBE करें और सदस्यता लें,
यह बिल्कुल फ्री हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.