Google Map कैसे काम करता हैं? How Google Map Works?

Google Map Live Traffic Kaise Dikhata hai?: दोस्तों अगर आप एक स्मार्टफोन यूजर है या फिर आप अपने कंप्यूटर पर इंटरनेट Access करते हैं हैं तो आपने Google Map का इस्तेमाल जरुर किया होगा। जब भी आप किसी जगह पर जाने के लिए Google Maps का सहारा लेते हैं तो आपने नोटिस किया होगा कि हमें Google Map के अंदर कहीं तरह की रंग बिरंगी लाइनें दिखाई देती हैं आखिर इन सभी लाइनों का क्या मतलब होता है कैसे Google Map की सहायता से हम सभी लाइव ट्रैफिक देख पाते हैं आज हम इसी बारे में बताने जा रहे हैं।

हमें Google Map के अंदर निम्न रंगों की लाइने देखने को मिलते हैं:-

  • Blue Line (नीली लकीर)
  • Grey Line (मटीली लकीर)
  • Red Line (लाल लकीर)
  • Orange Line (सन्तरी लकीर)

अगर आपको इन सभी लाइनों के बारे में जानकारी नहीं है आपको नहीं पता है कि Google कैसे ट्रैफिक डाटा कवर करता है? Google को कैसे पता चल जाता है कि इस समय किस सड़क पर कितने वाहन चल रहे हैं? कैसे Google Map के द्वारा हमें मालूम चल जाता है यह किस जगह पर कितना ट्रैफिक है या नही है? आज के इस आर्टिकल में हम इन सभी बातों के बारे में जानेंगे।

तो सबसे पहले हम बात कर लेते हैं इन सभी अलग-अलग तरह के रंगों की लाइनों के बारे में कि आखिर इन अलग-अलग रंगों की लाइनों का मतलब क्या है?

How Google Map Works in Hindi
Google Map Kaise Kaam Karta Hai in Hindi?

Google Map में Blue Lines का क्या मतलब हैं? 

नीली लाइन गूगल मैप में क्या दर्शाती है?

Blue Line (नीली लकीर)
जब भी आप Google Map के अंदर एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए Direction Search करते हैं तो आपको ऐसी Condition में दो तरह की लाइनें दिखाई देती हैं एक Blue Line और दूसरी Grey Line.

यहाँ पर Blue Line का मतलब है कि आपकी Destination तक जाने के लिए यह रास्ता एकदम साफ है और यह आपके लिए सबसे फास्टेस्ट रूप है यानी कि इस रास्ते के द्वारा अगर आप जाते हैं तो आप सबसे जल्दी अपनी मंजिल तक पहुंच जाएंगे। किसी भी तरह की ट्रैफिक की परेशानी आपको नहीं झेलनी पड़ेगी।

Google Map में Grey Lines का क्या मतलब हैं? 

मटीली लाइन गूगल मैप में क्या दर्शाती है?

Grey Line (मटीली लकीर)
काफी बार किसी जगह पर जाने के लिए एक से ज्यादा रास्ते उपलब्ध होते हैं यानी कि आप चाहे तो किसी भी रास्ते से उस जगह पर पहुंच सकते हैं तो इन परिस्थितियों में जब भी आप Google Map के अंदर उस जगह पर जाने के लिए सर्च करते हैं तो आपको Blue Line के साथ साथ Grey Line भी दिखाई देती है। यहाँ पर Blue Color की लाइन का क्या मतलब है इसे आप ऊपर समझ ही चुके हैं।

Must Read:
TrueCaller कैसे काम करता है? कैसे किसी भी अनजान नंबर को पहचान लेता है?

Grey Color वाली लाइन का मतलब है की अगर आप Blue Color वाली लाइन के रास्ते से नहीं जाना चाहते हैं या फिर आपको लगता है की उस रास्ते पर ज्यादा ट्रैफिक हो सकता है तो आप Grey Color वाले रास्ते को भी चुन सकते हैं जो कि Google Map के द्वारा दिखाया जाने वाला आपके लिए एक Alternate Route है जिसके द्वारा भी आप अपनी मंजिल तक आसानी से पहुंच सकते हैं। हालांकि ब्लू कलर वाले Route की अपेक्षा Grey Color वाले Route में आपको थोड़ा सा ज्यादा समय लग सकता है।

Google Map में Red Lines का क्या मतलब हैं? 

लाल लाइन गूगल मैप में क्या दर्शाती है?

Red Line (लाल लकीर)
अगर एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के लिए Direction Search करते वक़्त आपने Traffic का Option चुना हुआ है तो इन परिस्तिथियों में Blue Color line के बीच-बीच में कहीं-कहीं पर आपको Red Color Line भी दिखाई देती है जिसका मतलब है कि आपके रास्ते के उस हिस्से में काफी ज्यादा गाड़ियां चल रही हैं।

जिसके कारण वहां पर Traffic जाम की स्थिति बनी हुई है। यानी कि जिस रास्ते पर आप जा रहे हैं उस रास्ते के जिस-जिस हिस्से पर छोटी-छोटी लाल कलर की लाइनें बनी हुई है वह Lines Traffic को दर्शाती हैं।

Google Map में Orange Lines का क्या मतलब हैं? 

सन्तरी लाइन गूगल मैप में क्या दर्शाती है?

Orange Line (सन्तरी लकीर)
जैसे कि लाल कलर वाली LINE आपके Route के किसी भी हिस्से पर लगे ट्रैफिक जाम को दर्शाती है। ठीक उसी तरह Orange Color वाली लाइन भी ट्रैफिक जाम को ही दर्शाती है। लेकिन दोनों में फर्क सिर्फ इतना है कि लाल रंग वाली लाइन जिस जगह पर होती है वहां पर काफी है भारी जाम हो सकता है। वही जहां पर Orange Color वाली Line आपको दिखाई देती है वहां पर थोड़ा मीडियम जाम आपको मिल सकता है।

तो चलिए अब हम बात कर लेते हैं कि Google Maps किस तरह से Traffic Data Cover करता है?

  • 1. क्या यह डाटा Google Map सेटेलाइट से लेता है? 
  • 2. या फिर ट्रैफिक की जो ऑर्गनाइजेशन है वहाँ से Google Map क्यों यह सारा डाटा मिलता है? 
  • 3. गवर्नमेंट से मिलता है, 
  • 4. या फिर आप और हम यह सारा डाटा Google को देते हैं?

दोस्तों Google Map के द्वारा जो भी ट्रैफिक का हाल दिखाया जाता है कि कहां पर ज्यादा जाम लगा हुआ है कहां पर कम जाम लगा हुआ है यह सभी जानकारी Google को आप से और हम से ही प्राप्त होती है। लेकिन कैसे?

How Google Map Shows Live Traffic?

गूगल मैप लाइव ट्रैफिक कैसे दिखता है?

यह सारा डाटा हमारे Smartphone के द्वारा ही Google को प्राप्त होता है। जब भी आप कोई नया स्मार्टफोन लेते हैं या फिर जब भी कभी आप अपने स्मार्टफोन पर पहली बार Google Maps को Open करते हैं या फिर Google की किसी भी Location Services को On करते हैं तो आपको यहां पर सबसे पहले “Terms and Agreements” Agree करने के लिए एक Option देखने को मिलता है और हम बिना कुछ सोचे समझे उस “Terms and Agreements” को Agree कर देते हैं।

इसी के साथ-साथ आपके सामने एक Pop-up और आता है जिसका सीधा-सीधा मतलब होता है कि “Google can monitor your location” यानी कि Google आपकी Present Location को Access कर सकता है। और हम सभी उसको OK कर देते हैं। 

आप अभी कहां पर हैं?, किस जगह पर आप जा रहे हैं?, कहां पर आप गए थे? यह सारी जानकारी Google Access कर सकता है।

Must Read:
Android System Webview क्या हैं? सभी Android मोबाइल में यह क्यों पाया जाता है?

अब जब आपने पहली बार Google Maps को ओपन किया या फिर आपने पहली बार अपने स्मार्टफोन का Setup किया है तो आपने Google की सभी “Terms and Conditions” को तो Agree कर ही लिया है।

अब ऐसे में अगर आप किसी एक स्थान से Google Map के द्वारा किसी दूसरे स्थान पर जाते हैं या जा रहे हैं चाहे आपने Google Map को open किया हुआ हो या नहीं हो। लेकिन अगर आपके पास एक स्मार्टफोन है तो ऐसे में Google को आपकी वर्तमान Location की पूरी जानकारी है। Google को मालूम है कि आप किस दिशा में जा रहे हैं और कितनी स्पीड से आप किसी Particular Direction में Move कर रहे हैं?

Google Map working process in Hindi
Crowdsourcing

अब आप खुद सोच सकते हैं कि आप के जैसे न जाने कितने और लोग Google Map के द्वारा या फिर अपने स्मार्टफोन के साथ उस जगह पर मौजूद होंगे या उसी दिशा में जा रहे होंगे। तो ऐसे में Google को उन सभी व्यक्तियों की वर्तमान Location की जानकारी उनके स्मार्टफोन के द्वारा मिलती रहती है। तो इसी तरीके से Google यह मालूम करता है कि इस समय किस जगह पर कितनी गाड़ियां कितनी तेजी से Move कर रही है। 

तो ऐसी परिस्थिति में Google काफी सारे Users के डाटा को Collect करने के बाद Average निकाल कर एक Estimate Result हमें दिखाता है कि इस समय उस Particular स्थान पर इतनी गाड़ियां मौजूद है और वह कितनी तेजी से किस दिशा की तरफ Move कर रही है? अब जिस जगह पर गाड़ियां बिल्कुल धीमी स्पीड से चल रही है तो वहां पर Google की तरफ से लाल रंग वाली लाइन दिखाई जाती है।

Must Read:
गूगल से एक मिनट में अपना सारा पर्सनल डाटा कैसे डाउनलोड करें?
TrueCaller कैसे काम करता हैं? How TrueCaller Works in Hindi?

और जिस जगह पर थोड़ी सी भी स्पीड से अगर गाड़ियां किसी भी दिशा की तरफ Move कर रही है तो वहां पर Google के द्वारा Orange Color वाली लाइन दिखाई जाती है। और अगर गाड़ियां अपनी Normal Speed से किसी भी दिशा की तरफ Move कर रही है तो वहां पर Google की तरफ से नीले रंग वाली लाइन दिखाई देती है। तो Users का डाटा Collect करने के बाद Users की ही Help करना Crowed Sourcing कहलाता है। 

यानी कि Crowed Sourcing की मदद से ही Google Maps Live Traffic को दिखाता है। अब ऐसा नहीं है कि Google केवल GPS या फिर स्मार्टफोन के द्वारा ही आपकी लोकेशन के बारे में मालूम करता है जिस दिशा में आप जा रहे हैं वहां पर आपके सेल फोन के टावर की द्वारा भी आप की लोकेशन का पता लगाया जाता है अगर आप WI-FI इस्तेमाल कर रहे हैं तो भी आप की लोकेशन गूगल को मालूम चलती रहती है।

तो अब आप समझ ही गए होंगे कि Google Map को Live Traffic दिखाने में हम सब ही गूगल की मदद करते हैं यानी कि लाइव ट्रैफिक दिखाने के लिए Google “Crowed Sourcing” का सहारा लेता है।

मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको यह जानकारी “Google Map कैसे काम करता हैं? How Google Map Works?” जरुर पसंद आई होगी! अगर आपके कुछ और सवाल हैं तो नीचे कमेंट के माध्यम से आप पूछ सकते हैं। धन्यवाद


👇:ऐसी ही और महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए:👇
अभी Blog News Letter को SUBSCRIBE करें और सदस्यता लें,
यह बिल्कुल फ्री हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.