हर New Blogger और Website Owners के लिए यह जानना बहुत ही जरूरी हैं कि Backlink Kya hai और SEO के लिए Backlink क्यों जरूरी हैं? तथा अगर आप ब्लॉगिंग करते हैं तो आप Backlink कैसे बना सकते हैं? How to Create Backlinks in Hindi?

जितने भी New Blogger होते हैं उन्हें Backlinks के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती है और जितना भी वे थोड़ा बहुत जानते हैं उसको लेकर भी काफी Confusion मन में रहता है कि आखिर Backlink क्या होते हैं और ये कैसे काम करते हैं?

हर एक नया ब्लॉगर अपने ब्लॉग पर बड़ी मात्रा में Organic Traffic प्राप्त करने के लिए हर समय कुछ ना कुछ Research करता रहता हैं। ब्लॉग के लिए अच्छा SEO कैसे करें? इसको लेकर कुछ ना कुछ New Techniques ढूंढता रहता हैं।

SEO क्या है तथा अपने ब्लॉग के लिए SEO कैसे करें? इसकी विस्तार पूर्वक जानकारी के लिए मैं लगभग 2,700 Words के आर्टिकल में काफी अच्छे से समझा चुका हूं। अगर आप Blogging को लेकर Serious है तो फिर आपको यह Post “SEO Kya Hai? Search Engine Optimization in Hindi?” जरुर पढ़नी चाहिए।

The Ultimate 20-in-1 SEO Tool For you

अगर आप ब्लॉगिंग में सफलता पाना चाहते हैं तो इसके लिए जरूरी है कि आपके ब्लॉग पर Search Engine के द्वारा Organic Traffic आए लेकिन Search Engine से Organic Traffic पाने के लिए SEO जरूरी है और जब बात SEO की आती है तो उससे संबंधित एक महत्वपूर्ण चीज Backlinks भी है जो SEO के अलावा आपके ब्लॉग पर Traffic लाने के लिए एक बहुत महत्वपूर्ण कड़ी है। जिसके बारे में हम आज बात करने जा रहे हैं।

Backninks को लेकर आपके मन में जो भी Confusion और सवाल है आशा करता हूं कि आज की इस Post को ध्यानपूर्वक पढ़ने के बाद वो सभी Clear हो चुके होंगे। तो इसलिए कृपया इस आर्टिकल को शुरू से लेकर आखिर तक ध्यानपूर्वक पढ़ें।

Backlink Kya Hai? What is Backlinks in Hindi?

Backlink kya hai? What are Backlinks in Hindi?

किसी भी Website या Blog पर दिया गया कोई भी ऐसा Link जिस पर Click करने के बाद Visitors आपकी Website या Blog पर visit करे तो वह Link जो किसी दूसरे के ब्लॉग में Link किया गया हो वह आपके ब्लॉग के लिए Backlinks का काम करता हैं।

चलिए इसको थोडा और आसान शब्दों में समझते हैं। मान लीजिये आपका कोई ब्लॉग है और आपके ब्लॉग की किसी Post का URL अगर मैं अपने ब्लॉग की किसी Post में Link कर देता हूँ और मेरे ब्लॉग पर आने वाले Visitors उस Link पर Click करके आपके ब्लॉग तक पहुचते हैं तो मेरे ब्लॉग पर दिया गया आपकी Post का Link ही आपके ब्लॉग के लिए Backinks हैं।

आपके ब्लॉग पर दूसरे ब्लॉग के link द्वारा जितने भी visitors आते हैं वह सभी links आपके ब्लॉग के Total Backlinks होते हैं। तो अगर देखा जाए तो Backlinks एक तरह से वो External links होते हैं जिन पर क्लिक करने के बाद Visitors किसी दूसरी वेबसाइट या ब्लॉग से आपके ब्लॉग पर Visit करते हैं।

Bluehost Hosting Discount Coupon

अगर आपकी किसी ब्लॉग Post का link किसी ऐसी Website या Blog पर लगा हुआ है जहां पर बहुत ज्यादा Visitors आते हैं तो ऐसे में उस link के द्वारा आपके ब्लॉग पर भी काफी ज्यादा Traffic आने की संभावना बढ़ जाती हैं।

अगर आपको वहां से काफी Visitors मिलते हैं तो भविष्य में धीरे-धीरे आपके Page Views बढ़ते जाएंगे जिसके कारण Search Engine या फिर Google में आपका ब्लॉग भी अच्छे से Rank करने लगेगा। अब आपको धीरे-धीरे समझ में आ रहा होगा कि Backlinks किसी भी ब्लॉग के SEO के लिए कितने महत्वपूर्ण होते हैं।

Backlink kya hai? Backlinks के बारे में इतना जानने के बाद हमें इस के छोटे से छोटे स्वरूप को भी जानना SEO के हिसाब से बहुत ही जरूरी है। उसके बाद ही आप Backlinks के बारे में गहराई से जान पाएंगे तथा उसे अपने ब्लॉगिंग कि क्षेत्र में इस्तेमाल कर सकेंगे। तो चलिए बैकलिंक्स के हर छोटे से छोटे Terms को भी समझ लेते हैं।

Some Important Terms of Backlinks:

1. Internal links:
जब हम अपने ब्लॉग की किसी Post के URL को अपने ही Blog के किसी दूसरे Article से लिंक करते हैं तो इस तरह की Linking को internal linking कहते हैं। यह तरीका गूगल में किसी भी आर्टिकल को रैंक कराने के लिए बहुत सटीक है जैसे कि मान लीजिए आपके ब्लॉग का कोई Article Google में Top पर रैंक है तो आप अपने ब्लॉग की दूसरी Posts की linking भी उस पोस्ट में कर सकते हैं जिससे बाकी Posts को भी गूगल में रैंक होने में काफी Help मिलेगी।

2. External Links:
यह थोड़े से अलग होते हैं इसमें हम अपने Blog की Posts के अंदर किसी दूसरे Blog की Posts के URL को link करते हैं। जोकि Search Engine में रैंकिंग के लिए काफी ज्यादा important होते हैं।

3. Link Juice:
जब आपके ब्लॉग के किसी Article या फिर आपके ब्लॉग का Homepage किसी Web-page से Link होता है तो उसे Link Juice कहते हैं। Domain Authority बढ़ाने में और Article की Search Ranking में Link Juice काफी महत्वपूर्ण होता हैं।

4. Anchor Text:
अपने ब्लॉग में आर्टिकल लिखते समय हम बीच-बीच में Hyperlink Add करके कुछ Clickable Text बना देते हैं जिस पर क्लिक करने के बाद विजिटर्स किसी दूसरी पोस्ट या किसी दूसरी वेबसाइट पर Redirect हो जाते हैं Blog Post के अंदर इस तरह से बनाए गए Clickable Text को ही Anchor Text कहते हैं।

SEMrush SEO Toolkit

किसी भी ब्लॉग पोस्ट के अंदर Anchor Text add करना SEO के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद रहता है। अगर बिल्कुल साधारण शब्दों में समझें तो Blog Post के अंदर वह Text जिसे हम Hyperlink के लिए use करते हैं वह ही Anchor Text होता है।

5. Low-Quality links:
आपके ब्लॉग पर किसी भी Harvested sites, spam sites, Automated sites और Porn sites से आने वाले Links Low-Quality links कहलाते हैं। इस तरह के links आपके ब्लॉग के लिए काफी ज्यादा नुकसानदायक होते हैं जो आपके Blog के SEO को बढ़ाने की बजाय और कम कर देते हैं।

6. High-Quality links:
जितना किसी spam sites से लिंक प्राप्त करना नुकसानदायक होता है उतना ही किसी अच्छी Authority वाली वेबसाइट से लिंक प्राप्त करना आपके ब्लॉग के लिए किसी SEO Magic से कम नहीं होता है। उदहारण के लिए अगर आपको Wikipedia.com और Quora.com जैसी High Authority वाली वेबसाइट से लिंक मिलता है तो वह High-Quality links में आता है।

अभी आपने ऊपर Backlinks के सभी छोटे-छोटे Terms के बारे में जाना लेकिन अगर Backlinks को Categorize किया जाए तो ये मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं जिनके बारे में भी एक सफल ब्लॉगर बनने के लिए जानना जरुरी हैं।

Backlink कितने प्रकार के होते हैं – Types of Backlinks in SEO Hindi?

Backlinks दो प्रकार के होते हैं। पहला Do-Follow Backlinks और दूसरा No-Follow Backlinks:

Do Follow Backlinks Kya Hai:

किसी भी ब्लॉग के Articles को Google या किसी भी Search Engine में Top rank कराने के लिए Do-Follow Backlinks का काफी बड़ा हाथ होता हैं। एक ब्लॉग से दूसरे ब्लॉग तक पहुचने के लिए Do-Follow Backlink link juice pass करता हैं।

जितने भी Extranal links हम अपनी Blog Posts के अंदर Link करते है वह सभी दुसरे Blogs के लिए Do-Follow Backlinks का काम करते हैं। और अगर कोई अपने ब्लॉग पर आपकी किसी post को Link करे तो वह आपके Blog के लिए Do-Follow Backlinks का काम करेगा।

कोई भी Do-Follow Backlink बिना किसी Attribute के होता है। उदाहरण के लिए:- <a href=”yourwebsitename.com”>Link Text</a>

दूसरे Blogs पर Guest-Posting करना High Quality Do-Follow Backlinks बनाने का एक उत्तम तरीका हैं।

No Follow Backlinks Kya Hai:

एक ब्लॉग से दूसरे ब्लॉग तक पहुचने के लिए No-Follow Backlink link juice pass नहीं करता हैं। No-Follow Backlinks को गूगल SEO के नजरिये से ज्यादा महत्व नहीं देता हैं हाँ लेकिन कहीं न कहीं ऐसे links से आपकी Blog Posts को Search Ranking में थोडा फायदा मिलता हैं।

किसी ब्लॉग की Post पर Comment कर जो link Create होता है वह भी No-Follow Backlinks की Category में ही आता हैं तथा wikipedia और Quora जैसी High Authority Websites पर भी Linking No-Follow Backlinks में ही Count होती हैं।

No-Follow Backlink Attribute के साथ होता है। उदाहरण के लिए:-
<a href=”yourwebsitename.com” rel=”nofollow”>Link Text</a>

Important Tip: कोशिश कर कि Do-Follow Backlinks और No-Follow Backlinks बनाने में समानता रखे। ऐसा न हो कि आप केवल Do-Follow Backlinks बनाने में मुख्य Focus रखे। साथ में थोड़े-थोड़े No-Follow Backlinks भी Create करते रहना Google की नजरो में बहुत ही जरुरी हैं। इसके लिए आपकी Website या Blog को Google की तरफ से Penalise भी होना पद सकता हैं।

High Quality Backlinks kaise Banaye Hindi?

How to Create Dofollow Backlinks in Hindi? किसी भी New Blogger को धीरे-धीरे ही समझ में आता है कि Backlink Kya Hai और ब्लॉगिंग के क्षेत्र में बैकलिंक्स का क्या महत्व होता है। ब्लॉग के SEO को improve करने के लिए Backlinks कितने जरूरी हैं? लेकिन अपने ब्लॉग के लिए Quality Backlinks बनाना किसी भी New ब्लॉगर के लिए बिल्कुल भी आसान काम नहीं होता।

Bluehost Hosting Discount Coupon

आपके New Blog के लिए High Quality Backlinks बनाना बहुत ही जरूरी है ताकि आपके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा Visitors आ सके और आपके ब्लॉग को भी लोग जानने लगे। क्योंकि Backlinks की वजह से जितना ज्यादा अच्छा SEO आपके ब्लॉग का होगा उतने ही ज्यादा Visitors आपके ब्लॉग को Visit करेंगे तथा आप उतना ही ज्यादा पैसा अपने ब्लॉग से कमा सकते हैं। चलिए जानते हैं कि आप अपने ब्लॉग के लिए Backlinks कैसे बना सकते हैं?

1. Awesome Content लिखे।

अपनी New ब्लॉग के लिए Quality Backlinks प्राप्त करने का यह सबसे अच्छा तरीका है। एक अच्छा Content ही किसी भी ब्लॉग की जान होती है। कोशिश करें कि आप अपने ब्लॉग पर Visitors को एक अच्छा Content दे सके ताकि उन्हें उसके द्वारा प्राप्त जानकारी से कुछ सीखने को मिले। एक अच्छा कंटेंट लिखने के बाद On Page SEO की मदद से भी आपकी Blog Posts गूगल के 1st Page पर Rank हो सकती है।

2. Comment करना Start करें।

अपने ब्लॉग के Niche वाले दूसरे Blogs की Posts पर Comment करना शुरू कर दीजिए। ऐसा करने से आपको Do-Follow Backlinks तो नहीं मिलेंगे लेकिन No-Follow Backlinks की मदद से आपकी Blog Posts को गूगल में Rank होने में काफी मदद मिलेगी।

Comments केवल उन्हीं Blogs या Websites पर करें जिन पर आपको Comment लिखने के दौरान अपनी वेबसाइट का URL डालने का Option भी मिलता हो। इसलिए कमेंट करते समय अपने ब्लॉग या अपनी किसी Post का URL डालना बिल्कुल न भूले।

3. Guest Post भी जरूर करें।

काफी सारे Bloggers अपने ब्लॉग में ही Guest Post करने का Feature add करके रखते हैं। High Quality Do-Follow Backlinks प्राप्त करने का यह तरीका आजकल ब्लॉगिंग क्षेत्र में काफी ज्यादा प्रचलन में है। अगर आप एक High Authority वाली Website या Blog से Backlinks प्राप्त करना चाहते हैं तो उनके ब्लॉग के लिए Guest Posting एक बहुत ही बढ़िया तरीका है।

ऐसा कर आप अपने ब्लॉग को दूसरे Blogs की मदद से Promote कर सकते हो। जिससे दूसरे Bloggers तथा उनके Visitors भी आपके ब्लॉग के बारे में धीरे-धीरे जानने लगेंगे तथा आपके ब्लॉग पर भी धीरे-धीरे Traffic बढ़ने लगेगा। हमारे ब्लॉग INDIGYAN में Guest Post करने के लिए यहां क्लिक करें।

आशा करता हूं आज इस आर्टिकल “Backlink kya hai? Blog SEO के लिए Backlinks कैसे बनाएं?” को पढ़ने के बाद Backlinks से संबंधित आपके Basics Clear हो गए होंगे? अगर अभी भी इससे सम्बंधित कोई सावल आपके मन में हैं या इस Article के बारे में आप कुछ कहना चाहते हैं तो नीचे Comment Box में अपनी बात लिख सकते हैं।

INDI GYAN को समय देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।
HAPPY BLOGGING!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.