क्या आप जानना चाहते हैं कि ब्लॉगिंग में CDN Kya Hai? तो जुडे़ रहीए हमारी इसी Blog Post के साथ क्योंकि आज की इस पोस्ट में हम इस विषय पर विस्तापूर्वक जानेंगे और समझेंगे कि CDN किसे कहते हैं What is CDN in Hindi? और अगर आप Blogging करते हैं तो CDN आपके लिए क्यों जरूरी हैं?

जब आप इन्टरनेट पर कुछ Search करते हैं या Directly कोई Site खोलते हैं तो कोई साइट बहुत Fast Load हो जाती हैं और किसी-किसी साइट को Load होने में थोड़ा समय लगता हैं।

इस Slow और Fast Loading के बीच में कहीं न कहीं CDN के होने और न होने का एक बहुत महत्वपूर्ण रोल होता हैं। हर ब्लॉगर चाहता हैं कि उसकी वेबसाईट Fast Load हो और वैसे भी Google ने यह बहुत पहले ही स्पष्ट कर दिया हैं कि Google Search Ranking में वेबसाइट का Fast Load होना भी एक बहुत ही important Factor रहेगा।

बड़े-बड़े SEO Experts और Speed Checking Tools जैसे कि GTmetrix, Pingdom और Google PageSpeed भी वेबसाईट और ब्लॉग में CDN का उपयोग करने की सलाह देते हैं।

चालिए अब अपने मुख्य टॉपिक की तरफ बढ़ते है कि CDN ka Matalab Kya Hota Hai?

CDN Kya Hai in Hindi

CDN Kya Hai in Hindi?

CDN की Full Form “Content Delivery Network” होती हैं। जैसा कि मैंने पहले भी बताया कि Blogging Field में CDN का उपयोग मुख्य रूप से Website की Slow Loading Performance को Improve करने के लिए किया जाता हैं।

जब आप CDN और Hosting के साथ ब्लॉग को Run कर रहे होते है तो यह Combination आपके ब्लॉग की रैंकिंग और Loading Speed में एक टॉनिक की तरह काम करता हैं।

जैसा कि आप जान ही गए कि CDN एक Content Delivery Network हैं जिसके Server लगभग पूरी दुनियां में फैले हुए हैं। जब आप अपने ब्लॉग को CDN Network से Connect कर देते है तो आपके Blog की सभी Files दुनिया भर में फैले हुए CDN के Servers में Store (Cache Version) हो जाते है और फिर Users को उनकी Geographic Location के आधार पर Content Serve किया जाता हैं।

CDN Kya Hai in Hindi?

अब अगर कोई User आपके ब्लॉग को Visit करता हैं तो CDN Technology उस Visitor के Browser को उसके सबसे नजदीकी CDN Server से Connect कर देती है और उस CDN Server पर आपके ब्लॉग की सभी Files पहले से ही स्टोर होती है जिस वजह से उस Page और Files को Load होने में अधिक समय नही लगता हैं और User आपके ब्लाग को जल्दी और आसानी से Access कर लेता हैं।

अगर बिल्कुल CDN in Simple Words की बात की जाए तो CDN एक ऐसी Technique हैं जिसे ब्लॉग से Connect करने के बाद आपकी Blog Posts, images, files आदि आपके Hosting Servers से Access न होकर सीधे CDN Servers से Access की जाती हैं। जो आपके ब्लॉग को Fast Load होने में मदद करती हैं।

CDN Kyo Important Hai? Blog पर CDN का इस्तेमाल करना क्यों जरूरी हैं?

जब भी कोई New Blogger Blogging की शुरूआत करता हैं तो वह Shared Hosting ही लेता हैं जहां CDN जैसी Technology की सबसे अधिक जरूरत पड़ती हैं।

क्योंकि Shared Hosting की Performance बाकी Hosting की तुलना में Slow होती हैं। जब हम बिना Content Delivery Network के किसी साइट को Hosting के साथ Use करते हैं तो उसका Hosting Server केवल एक ही जगह पर रहता हैं।

अगर कोई Visitor आपके ब्लॉग को Visit करता है तो उस स्थिति में उसकी सबसे पहले वह Search Enquiry आपके Hosting Server तक पहुंचती हैं और फिर Hosting Server से वापस आप के कम्प्यूटर के ब्राउजर या मोबाईल के ब्राउज़र तक वापस आती है ताकि आप उस Web Page को देख सकें।

अब आपके ब्लॉग का Slow load होने का मुख्य कारण यह रहता हैं कि मान लीजिए आपने जो होस्टिंग ली हैं उसका Server India में हैं और कोई Visitor आपके ब्लॉग को US से Visit करता हैं तो उस Condition में वह जो कुछ भी Search कर रहा हैं उसकी जानकारी आपके Hosting Server India तक पहुंचेगी और फिर वहां से वापस US उसके Web Browser तक का सफर तय करेगी जोकि काफी लंबा समय हो जाता हैं और आपका ब्लॉग Full Load होने में अधिक समय लेता है।

तो इतना तो अब तक आप समझ ही गए होंगे कि CDN Kya Hai? अब आगे आप जानेंगे कि ब्लॉग पर CDN को Use करने के क्या-क्या Advantage हैं?

Advantage of CDN, Blog पर CDN Use करने के क्या फायदे हैं?

Content Delivery Network को Use करने के आपको ब्लॉग को कई फायदे मिलते हैं जिसके बारे में आगे इस पोस्ट में हम एक-एक करके जानेंगे।

1. Speed:

वैसे तो इसे ब्लॉग से Connect करने का जो सबसे अधिक फायदा और अपने जिस फीचर के लिए यह CDN Technology अधिक Popular हैं वह हैं ब्लॉग की Loading Speed को बहुत अधिक Fast करना। इसका क्या कारण हैं यह आप ऊपर समझ ही चुके हो। जितनी अच्छी Content Loading Speed होगी लोग आपके ब्लॉग को उतना ही अधिक पसंद करेंगे जिससे आपके ब्लॉग पर Visitors की संख्या भी बढ़ेगी।

2. Google Search Ranking:

इतना तो आपको मालूम ही है कि Google के अनुसार किसी भी ब्लॉग का Browser में तेजी से Load होना Search Engine में उसकी Ranking पर भी Effect डालता है। अगर आप Content Delivery Network को Use नहीं करते हैं तो Slow Web Page Loading की वजह से आपकी Google Ranking Down रहने के पूरे-पूरे Chances रहते हैं।

और अगर आपकी साईट Fast Load होगी तो Googlebot को भी आपकी Site को जल्दी Index करने में Help मिलेगी जिससे आपकी Blog Posts Google के Search Engine में जल्दी Rank होंगी।

3. Web Hosting Cost:

जब Visitors बिना CDN के आपके ब्लॉग को Visit करते हैं तो इससे आपकी Web Hosting Cost पर भी फर्क पड़ता हैं अगर आप किसी Limited Bandwidth Hosting को इस्तेमाल करते हैं तो बिना Content Delivery Network के आपकी वह Limit पूरी होने पर आपको काफी Extra Charge लगता हैं।

लेकिन अगर आपके ब्लॉग पर CDN Connect हैं तो जितनी भी Files और Data Transfer होगा वह सीधे आपके Hosting Server न ट्रान्सफर होकर CDN Server से Transfer होगा। जिससे आपकी Limited Bandwidth के Exceed होने के बहुत कम Chance रहते हैं। वैसे भी Web Hosting की तुलना में CDN काफी सस्ते होते हैं।

4. Bounce Rate:

अगर आपका ब्लॉग Fast Load नहीं होता हैं तो बहुत से Visitors आपके Homepage से ही या केवल किसी भी एक Post से ही वापस चले जाते हैं जिससे आपके Blog का Bounce Rate बढ़ता हैं। और किसी भी ब्लॉग का अधिक Bounce Rate होने उसके SEO के लिए बहुत ही चिंता का विषय हैं। इसलिए CDN इस्तेमाल करके आप अपनी Site की Speed बढ़ा सकते हो जिससे Bounce Rate को कम करने में भी काफी Help मिलेगी।

5. ब्लॉग अधिक Traffic Handle करता हैं

जब आपका Blog Rank करने लगता हैं तो जाहिर सी बात है ब्लॉग पर ट्रैफिक भी बढ़ेग जिससे आपकी Hosting पर भी Load बढ़ता हैं और एक ही Hosting Server होने के कारण जब आपकी साईट पर एकदम से काफी Traffic आने लगता हैं तो ऐसे में Hosting के Crash होने का अधिक डर रहता हैं।

जिसके कारण “Internal server error” “Database error” जैसी परेसानी आने लगती हैं। लेकिन अगर आप एक अच्छी Content Delivery Network Service को Use करते हैं तो अधिक Traffic आने पर भी आपका ब्लॉग Load Time को Minimize करके ज्यादा-से-ज्यादा Traffic Handle कर सकता हैं।

6. Boost Earning:

अगर आप अपने ब्लॉग पर Google AdSense की Ads और Affiliate Marketing का Use करते हैं तो CDN से आपकी Earning भी Boost होगी। Blog Posts पर Ads जल्दी Load होंगे जिससे अधिक impressions मिलते हैं और Clicks मिलने की संभावनाएं बनती हैं।

Affiliate Banners fast load होंगे तो Click और Affiliate Sales भी अधिक हो सकती है। इसलिए अपने Blog से Online Earning को बढ़ाने के लिए भी CDN को जरूर इस्तेमाल करें।

Best CDN for WordPress Website:

इंटरनेट पर काफी Paid और Free CDN Providers हैं जैसे कि MaxCDN, Cloudflare और KeyCDN आदि। जिनमें से Cloudflare एक Free Content Delivery Network हैं।

अगर आपने जल्दी में ही Blogging Start की हैं तो मैं आपको Cloudflare CDN को ही Use करने की सलाह दूंगा। यह आपके Blog के लिए Free SSL Certificate भी देता हैं। और जब आपका बजट बने तो फिर आप किसी भी अच्छी Paid CDN Service की तरफ जा सकते हो।

Conclusion: (Final Words)

अगर आप Blogging को लेकर Serious हो और अपने Visitors के लिए एक अच्छा Content और Reading Experience dena चाहते हो तो मैं आपको Suggest करूंगा कि आप अपने ब्लॉग पर CDN Technology को जरुर Connect करें।

आशा करता हूं आपको आज की यह जानकारी “CDN Kya Hai और Blog में CDN क्यों इस्तेमाल करना चाहिए?” पसंद आई होगी! इस पोस्ट के बारे में अपने विचार और अगर आप हमसे इससे संबंधित कुछ और पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से आप अपनी बात हम तक पहुंचा सकते हैं।

INDI GYAN को अपना कीमती समय देने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!
HAPPY BLOGGING!

2 COMMENTS

  1. धन्यवाद सर आपकी पोस्ट काफी लाब्दायी है और हमें आपके आर्टिकल्स पड़ना काफी ज्यादा अच्छा लगता है. आप हमारे देश के लिए काफी अच्छा काम कर रहे है इस प्रकार से और बेतरीन आर्टिकल्स हमरे लिए पोस्ट करते रहिये.

    • Thank You Jayesh, for such a nice comment. These kind of every Comment really Motivates me for Creating more valuable content. Keep Reading – Keep Learning

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.