क्या आपको मालूम हैं कि Technical SEO Kya Hai? और किसी भी वेबसाइट की Health और Organic Ranking में इसकी क्या importance होती हैं? और Website की सफलता में SEO का यह बहुत ही महत्वपूर्ण पार्ट क्या Effect डालता हैं? इसके अलावा अपनी Website का Technical SEO improve करने के लिए आपको कौन–कौन से जरूरी Steps लेने जरूरी होते हैं।

अगर नहीं तो SEO (Search Engine Optimization) के नजरिए से यह ज्ञानवर्धक लेख आपको Technical SEO से संबंधित पूर्ण जानकारी देने में Help करेगा। इसलिए अगर आप जाना चाहते हैं कि What is Technical SEO in Hindi? तो इस आर्टिकल को आपको पूरा और ध्यानपूर्वक पढ़ना चाहिए।

जब भी किसी Website के SEO की बात आती हैं तो अधिकतर लोग केवल On Page SEO और Off Page SEO तक ही सीमित होकर रह जाते हैं क्योंकि ये दोनों ही SEO के लिए इस्तेमाल होने वाली सबसे Common Techniques हैं। Website के Technical SEO की तरफ बहुत ही कम लोग ध्यान देते हैं।

अगर आपने अपने पाठकों के लिऐ एक Unique Content लिखा हैं और ब्लॉग या वेबसाइट का ON Page और OFF Page SEO भी बहुत अच्छे से किया हैं लेकिन फिर भी आपके उस Content को पढ़ने के लिए Readers नही मिल रहें हैं तो कहीं न कहीं हो सकता हैं कि आपकी Site Technical SEO की वजह से प्रभावित हो रही हो।

इसीलिए यह बहुत ही जरूरी हैं कि आप इस समस्या को जल्द से जल्द ठीक कर ले। इसीलिए इस आर्टिकल में मैं आपको 10 ऐसी Technical SEO Checklists in Hindi के बताने जा रहा हूं जो आपको Website का Technical SEO improve करने में Help करेंगी।

चलिए बातें बहुत हों चुकी अब अपने मुख्य टॉपिक की तरफ बढ़ते हैं और सबसे पहले जानते हैं कि Technical SEO Kya Hota Hai?

Technical SEO क्या है? What is Technical SEO in Hindi?

Technical SEO आपकी Site के Optimization की वह Technical Term हैं जो Search Engine Crawlers को Site की Fast और Easy Indexing में Help करती हैं।

Technical SEO के अंतर्गत यह सुनिश्चित किया जाता हैं कि आपकी Site को Search Engine Bots के द्वारा Crawling के लिए बिना किसी परेशानी के आसानी सी खोजा जा सकें।

Technical SEO Website की Organic Ranking में बहुत अधिक Help करता हैं। हालांकि Search Engine SERP में आपकी Site के Content की Ranking के लिए Algorithm का प्रयोग करता हैं जिसमे लगभग 200+ Ranking factors का इस्तेमाल किया जाता हैं। इन 200+ Ranking factors में Technical SEO भी शामिल हैं।

अगर आप आपकी Website के ON Page SEO, OFF Page SEO के अलावा Technical SEO की सभी Requirements को भी Full–fill कर देते हैं तो SERP (Search Engine Results Page) में आपकी साइट की High Ranking के Chances बढ़ जाते हैं।

अब अगर एकदम साधारण शब्दों में समझा जाए तो वेबसाइट पर उपलब्ध कंटेंट के अलावा वेबसाइट की Technical Foundation को मजबूती प्रदान करने के लिए जिन भी Techniques का इस्तेमाल किया जाता हैं वो सभी Technical SEO के अंतर्गत आती हैं। जैसे कि Speed Optimization, Mobile Friendly, Redirection आदि।

Website के लिए Technical SEO क्यों important हैं।

Technical SEO भी Website के लिए उतना ही जरूरी हैं जितना Content लिखते समय ON Page SEO और लिखने के बाद उसका OFF Page SEO करना. आप खुद सोचिए अगर आप अच्छे से अच्छा Unique और SEO Friendly Content अपनी साइट पर डाल देते हैं लेकिन किसी कारणवश Search Engine Crawlers को मेहनत से लिखे गए उस Content को Read करने में कोई परेशानी आ जाती हैं तो आपकी सारी मेहनत का कुछ भी Result निकलने वाला नहीं है।

इसलिए जब आप Technical SEO पर ध्यान देंगे तब आपको पता चलेगा कि किस Technical problem के कारण Search Engine Bots आपकी साइट के कंटेंट को Read नही कर पा रही हैं जिसके कारण आपकी Site Search Engine Results में दिखाई नहीं दे रही हैं।

इसलिए आपकी Successful Blogging Journey के लिए और ऐसी Problems का पता लगाने के लिए आपको Technical SEO का ज्ञान होना आवश्यक हैं। चलिए अब बात करते हैं कि आपको Website का Technical SEO improve करने के लिए कौन–कौन से Steps लेने की जरूरत हैं।

Website का Technical SEO कैसे Improve करें? 16 Actionable Techniques

आपकी वेबसाईट को Technically Optimize करने के लिए आपको कुछ बातों को बहुत अच्छे तरीके से समझने और फिर उन्हें साईट पर implement करने की जरूरत हैं। इस Best Technical SEO Tutorial in Hindi में नीचे मैं आपको कुछ ऐसी ही 16 Technical SEO Tips के बारे में बताने जा रहा हूं जिन्हें आपको बहुत ही ध्यान से पढ़ना और समझना चाहिए।

1

Broken Links का Optimization करें।

Broken Links किसी भी साईट के SEO के लिए बहुत अधिक नुकसानदायक होते हैं। आपकी साइट पर उपलब्ध ऐसे Links आपके Readers का तो User Experience खराब करते ही हैं क्योंकि क्लिक करने के बाद उन्हें वो information नही मिलती हैं जो वो पढ़ना चाहते हैं इसके साथ साथ Crawling के समय ऐसे Broken Links Website के SEO को Negative Way में ले लेते हैं।

ऐसी Links जिन पर Click करने के बाद 404 Error का मैसेज प्राप्त होता हैं उन्हें ही Broken Links कहते हैं। इसलिए सबसे पहले आपको अपनी साईट में Linked ऐसे ही Broken Links को Find करना चाहिए और या तो उन्हें Delete कर दे या फिर किसी दूसरे Valid Live Link से उसे Update कर दीजिए।

ऐसे Links को Find out करने के लिए आप बहुत ही Popular SEO Tool SEMRush का सहारा ले सकते हैं। जो आपकी पूरी साईट का SEO Analysis करके बता देंगे कि साइट के किस Article में कहां और कितने जिन पर क्लिक करने के बाद User को 404 Error देखने को मिलता हैं।

404 Monitor in Rank Math Plugin

वैसे आप चाहें तो Rank Math SEO Plugin की Help से भी यह कार्य आसानी से कर सकते हो। इसके लिए सिर्फ Rank Math>>404 Monitor पर क्लिक करें।

2

Website के लिए Robots.txt File Ready करें।

Website की Root Directory में उपलब्ध इस बहुत ही important Technical File के माध्यम से Search Engine Crawlers को यह दिशा निर्देश दिए जाते हैं कि वो आपकी साईट को किस प्रकार Crawl करें?

इसलिए वेबसाईट की सही Ranking, Crawling और indexing के लिए Robots.txt File Create करना Technical SEO के Point से बहुत ही important Step हैं।

Robots.txt file एक Simple सी txt file होती हैं जिसमे मुख्य रूप से कुछ Text Codes को Add किया जाता हैं जो Crawlers को Guide करते हैं कि Website के किस Content को Indexing के लिए Crawl किया जाए और किस को नहीं।

इस फाइल को बनाते समय काफी Focus की जरूरत होती हैं क्योंकि इस File में की गई छोटी सी गलती भी आपकी पूरी साईट को Search Engine से ही गायब भी कर सकती हैं।

Robots.txt File of IndiGyan

उदाहरण के लिए आप IndiGyan की Robots.txt file ऊपर image में देख सकते हैं। और Robots.txt file से सम्बंधित यह एक Detailed Guide हैं: 

3

Website की Loading Speed Optimize करें

Internet पर कुछ देखने के लिऐ जितना Fast Net चलता है Content पढ़ने में या देखने में उतना ही मजा आता हैं। लेकिन अगर आपकी Site Technically ही Slow हैं तो फिर उस Fast internet से भी कुछ नहीं हो सकता। आपकी साईट काफी धीमे Load होगी तो User load होने से पहले ही Back हो जाएगा।

और आपका साईट के प्रति उसका 1st Experience ही खराब हो जाएगा। जिससे आपकी Site की Ranking पर बहुत ही Negative पड़ता हैं। Google ने भी काफी पहले यह Clear कर दिया था कि Website की Loading Speed भी एक Ranking Factor की तरह काम करेगी।

इसलिए यह बहुत ही जरूरी हो जाता हैं कि आपकी Site Click करने के बाद Fast Load हो। अब यहाँ पर एक बात पर भी ध्यान देना बहुत ही जरुरी हो जाता हैं और वो हैं Website Speed और Page Speed. क्योंकि ये दोनों चीजें बिल्कुल अलग-अलग हैं। आपकी Site के Home URL की Speed मतलब कि HomePage की Speed को Website Speed और उसके अंदर उपलब्ध किसी भी Single Page की Speed को Page Speed कहते हैं।

इसलिए जब भी आप किसी Post को Publish करें तो पहले उसकी Speed को भी Check कर ले कि कहीं Post को Fast Load होने में कोई परेशानी तो नहीं हो रही हैं। इसके लिए आप GTMatrixPingdom और PageSpeed (Google) जैसे Online Tools की Help ले सकते हो। एक Ideal Website की Speed Performance ज्यादा से ज्यादा 2.5 Sec तक होनी चाहिए। अगर यह इससे बहुत अधिक हैं तो आपको इसे Optimize करने की जरुरत हैं।

Website की Loading Performance को improve करने के लिए आपको निम्न तरीको पर कार्य करना चाहिए

4

अपनी Website को Mobile Friendly बनाए।

इस बात से आप भी इनकार नहीं कर सकते कि आज के समय में लोग सबसे अधिक इन्टरनेट अपने Mobile में Use करते हैं। क्योंकि मोबाईल को हम लोग लगभग हर जगह अपना साथ ले जा सकते हैं जबकि Computer के मामले में ऐसा बिल्कुल भी नही हैं। यही कारण है कि internet का लगभग 70% इस्तेमाल मोबाईल के माध्यम से ही किया जाता हैं।

बस इसीलिए आज के तेजी से बदलते Technology के जमाने में यह बहुत ही जरूरी हों गया हैं कि आपकी Site Mobile पर भी एकदम अच्छे सी Display होनी चाहिए।

इतना ही नहीं Google के Crawlers ने भी Computer को नहीं बल्कि Mobile Site को ही पहली Crawling priority बना लिया हैं जिसका सीधा सा मतलब है कि आपकी साइट Mobile पर जैसे दिखाई देगी Google उसी हिसाब से ही उसकी Indexing और Ranking को भी देखेगा।

हर Website Owner को यह सुनिश्चित करने की जरूरत हैं कि उसकी Website के हिसाब से Perfectly Optimize हैं या नहीं। इसके लिए आपको एक Responsive WordPress Theme का इस्तेमाल करना होगा। वैसे आजकल लगभग सभी WordPress Themes Mobile और Computer दोनों के हिसाब से Optimize करके ही Design की जाती हैं लेकिन फिर भी आपको अच्छे से Mind में रखना चाहिए कि कही कोई चूक न हो।

आपकी Website Mobile Friendly हैं या नहीं यह आप Google Mobile Friendly Test Tool की Help से मालूम कर सकते हैं।

5

SSL Certificate को Setup करें।

Google के द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले 200+ Ranking Factors में SSL Certificate भी एक बहुत ही important Technical SEO Factor हैं। Google ने वर्ष 2014 में ही यह क्लियर कर दिया था कि अब से Website या Blogs के लिए SSL Certificate को भी एक Ranking Factors के तौर पर लिया जाएगा।

SSL Certificate का मतलब होता हैं Secure Socket Layer. जो आपकी Site को http से https में Convert करने में मदद करता हैं। और https की Full Form “Hyper Text Transfer Protocol Secure” होती हैं।

यह Protocol आपकी Website और Web Browser के बीच में Secure Connection स्थापित करने में मदद करता हैं। इसे अपनी साईट पर लगाना कोई अधिक मुस्किल कार्य नहीं हैं। अगर आप Google के Blogger Platform का इस्तेमाल करते हैं तो इसके लिए आपको Blogger के Dashboard में ही Free Setup करने का Option मिल जाता हैं।

और अगर आप WordPress का इस्तेमाल करते हैं तो काफी सारी Web Hosting Companies अपनी Hosting के साथ में Free SSL Certificate भी देती हैं जैसे कि Bluehost, A2Hosting, Hostinger और HostGator आदि। अगर आप इनमे से किसी से भी होस्टिंग लेते हैं तो SSL Certificate आपको बिल्कुल फ्री में ही मिल जायेगा।

A2 Hosting OfferA2 Hosting Offer

आप चाहें तो Cloudflare SSL Certificate को अपनी वेबसाइट पर इस्तेमाल कर सकते हैं। और अगर आप नहीं जानते कि Cloudflare से कैसे Free SSL लिया जाए तो यह एक Detailed Step by Step Guide हैं:

6

Website के लिए XML Sitemap बनाए।

Sitemap आपकी साईट की Ranking को तो Boost नही करता हैं लेकिन यह आपकी Website और उसके Content को Search Engine में Fast index करने में Help करता हैं।

Sitemap एक XML File होती हैं जिसके अंदर आपकी Site के सभी Content के URLs की information Store रहती हैं। जिसकी Help से Search Engine Crawlers को Content को आसानी से Find करने में मदद मिलती हैं।

किसी भी वेबसाइट के लिए उसकी Sitemap File Create करना बहुत ही आसान कार्य हैं। आप इसके लिए Online Tools जैसे कि Sitemape Generater का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन अगर आप WordPress User हैं तो फिर आप Rank Math SEO या Yoast SEO Plugin की Help से भी XML Sitemap Generate कर सकते हैं।

किसी भी Site की XML File को Access करने के लिए example.com/sitemap.xml इस URL को Browser में डालें। (Url को अपने डोमेन नेम से जरूर Replace कर ले)। XML File बनाने के बाद इसे Google Search Console में भी याद से Submit करना चाहिए।

7

Website के URL Structure को Optimize करें।

Website के लिए उसका URL Structure Technical SEO का एक बहुत ही महत्वपूर्ण पार्ट हैं। यह आपके Domain Name के साथ जुड़ा हुआ एक URL होता हैं जोकि Protocol, Domain Name, Extension और File path (Permalink) का Combination होता हैं।

किसी भी Web Page के लिए SEO Friendly Permalink या URL Structure Create करते समय उसमे सिर्फ Alphabets का ही इस्तेमाल करना चाहिए कोई भी Date या Year को उसमे न रखें।

किसी भी Website में मौजूद Web Pages के लिए एक SEO Friendly Permalink कुछ इस प्रकार होना चाहिए: https://indigyan.com/technical-seo-kya-hai

Permalinks Settings in WordPress

WordPress में Blog Post के लिए इस प्रकार की Permalink Setting करने के लिए Settings>>Permalinks पर क्लिक करें और फिर 5th वाले Option को चुनने के बाद Save Changes पर क्लिक कीजिए।

8

Website का Technical SEO Audit करें

वैसे आप इस Step को सबसे पहले ही कर लीजिए तो काफी अच्छा रहेगा क्योंकि अपनी Website का Technical SEO Audit करने के बाद आप यह आसानी से पता कर सकेंगे कि Site के अंदर कौन –कौन सी Technical Problems हैं।

Website Audit in SEMrush SEO Tool

इसके लिए आप SEMRush के Free Site Audit Tool की Help ले सकते हैं जहाँ से आपको आपकी पूरी साईट की Technical Condition के बारें में जानकारी मिल जाएगी। इसके बाद आपके सामने जो भी Technical issues आते हैं आप उनको Fix करने की कोशिश करें।

आप चाहें तो Website की Technical Condition Audit करने के लिए आप Deep Crawl या SEOclarity जैसे Tools की भी Help ले सकते हैं।

9

Duplicate Content on Website

जैसा कि आप जान ही चुकें हैं कि Technical SEO आपकी Website के Errors और उनको Fix करने के आस-पास ही रहता हैं। Duplicate Content भी एक साईट के लिए एक Serious Technical issue हैं जो आपकी साईट की Ranking को काफी प्रभावित कर सकता हैं।

Duplicate Content जैसी समस्या से बचने के लिए आप अपनी साईट में Canonical Tags का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस प्रकार का Content साईट पर आपकी वजह से नहीं Create होता हैं आपके लिए तो साईट के

http://example.com
https://example.com
https://www.example.com

ये सभी एक ही Site हैं लेकिन Google के लिए ये तीनों अलग–अलग Sites हैं। आपको इनमे से Google को यह सुनिश्चित करना होगा कि ये तीनों अलग अलग नहीं बल्कि एक ही साईट हैं।

आपको अपनी साइट के केवल किसी भी एक URL को index करने की अनुमति Google को देनी चाहिए। Canonical Tag की Help से किसी भी एक Main URL को आप Google को निर्देशित कर सकते हो।

आपकी Site पर Duplicate Content कई कारणों से हो सकता हैं जैसे कि Website के अलग अलग Version होना, Site पर Copied Content का होना या फिर Page Replication आदि।

Duplicate Content जैसी समस्या को Fix करने के लिए आप साईट पर निम्न Steps पर कार्य कर सकते हैं:

  • 1. Google Search Console में Website के एकदम Right Domain Name URL को Add करें।
  • 2. जो Domain Name URL आपने GSC में Add किया हैं उसके लिऐ 301 Redirection Set करें ताकि बाकि अन्य Versions भी उसी मुख्य URL पर Redirect हो सकें।
  • 3. Duplicate Content के लिए No-Index या Canonical Tag का इस्तेमाल करें
  • 4. आपको जो भी Content ऐसा लगता हैं कि वह Duplicate हैं उसे तुरंत Delete कर दीजिए।
10

Page Experience improve करें (Core Web Vitals)

जब आप Google Search Console में देखेंगे तो आपको Left Side में Page Experience का एक कॉलम देखने को मिलता हैं। जिसे May 2021 से Web Pages की Ranking के लिए Google ने इसे अपने 200+ Ranking Factors में शामिल कर लिया है।

जिसके अनुसार मई 2021 से आपकी साइट की SERP में Ranking Google के 200+ Ranking Factors के अलावा आपकी Website के Page Experience पर भी काफी हद तक निर्भर करेगी।

Google Search Console के Page Experience वाले Saction में Core Web Vitals के अलावा Mobile Friendliness, Safe Browsing, HTTPS Security और Intrusive interstitial जैसे Important SEO Factors को भी शामिल किया हैं।

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों, SEO के नजरिए से इस महत्वपूर्ण आर्टिकल "Technical SEO Kya Hai?" में आज हमने आपको बताया कि Technical SEO Kya Hota Hai? और Website का Technical SEO improve करने के लिऐ आपको कौन–कौन से जरूरी Steps लेने की जरूरत होती हैं?

आशा करता हूं आपको यह अच्छे से समझ में आ गया होगा और इनमे से जो points आपने अभी तक अपनी Site पर implement नही किए हैं आप उनको भी जरूर से Fix कर लेंगे।

अगर इससे सम्बन्धित आपके कुछ सवाल हैं तो आप नीचे Comment Box के माध्यम से हमसे संपर्क बना सकते हैं। आपका हर एक सवाल या फिर हर एक Positive Comment हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।

और हां, अगर यह जानकारी "What is Technical SEO in Hindi" आपको पसंद आई हैं तो इसे दूसरो के साथ भी Share जरूर करें ताकि अधिक से अधिक New Bloggers के पास यह जानकारी पहुंच सकें।

INDI GYAN को समय देने के लिए आपका धन्यवाद।
HAPPY BLOGGING!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.